DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड एक्सप्रेस में लावारिस अटैची से उड़े होश

दिल्ली से रांची जा रही झारखंड एक्सप्रेस में लावारिस अटैची में बम की सूचना पर स्टेशन पर अफरा-तफरी मच गई। छानबीन के बाद लगभग 20 मिनट बाद ट्रेन को रवाना किया गया। नानस्टाप ट्रेन की उस बोगी की तलाशी ली गई,कुछ ही समय में ट्रेन की स्लीपर बोगी एस.5 में लावारिस अटैची मिल गई,जिसे यात्राी लावारिस बताकर खौफजदा थे।

जीआरपी व आरपीएफ के प्रयास के बाद भी ट्रेन में सवार कोई यात्राी उस अटैची को लेने नहीं आया। रेल सूत्रों के मुताबिक अटैची में अमित सिंह पुत्र बिन्देश्वर नाम के युवक का वोटर आई कार्ड तथा कागज पर लिखा मोबाइल नंबर भी मिला जिसे सूचना दे दी गई है। बावजूद इसके शाम तक अटैची का लिवाला कोई नहीं आया। 
 

दिल्ली से रांची जा रही झारखंड एक्सप्रेस को रात पौने दस बजे के करीब गाजियाबाद स्टेशन पर रोका गया। इस ट्रेन का यहां स्टोपेज नहीं है। दिल्ली कंट्रोल से जीआरपी को सूचना दी गई कि ट्रेन के एफ 5 बोगी में लावारिस अटैची में कुछ संदिग्ध वस्तु है। सूचना के बाद जीआरपी व आरपीएफ के जवानों के अलावा रेल अफसरों के भी होश उड़ गए। आनन-फानन में ट्रेन को रूकवाया गया।


जीआरपी इंस्पेक्टर सूरजन सिंह ने बताया कि ट्रेन की बोगी की तलाशी में जीआरपी व आरपीएफ के जवान लगाए थे,कुछ मिनट बाद ही यात्राियों के बताए उक्त अटैची को कब्जे में लिया गया। डॉग स्क्वायड लाने की जरूरत ही नहीं पड़ी। बोगी की तलाशी में और कुछ नहीं मिला। लगभग 20 मिनट बाद ट्रेन को रवाना कर दिया गया। तलाशी के दौरान स्टेशन पर अफरा-तफरी का माहौल रहा। उन्होंने बताया कि लावारिस अटैची का वारिस न मिलने पर उसे खोला गया। उसमें बिहार के नालंदा निवासी किसी अमित पुत्र बिन्देश्वर नाम के युवक का फोटो पहचान पत्र व एक मोबाइल फोन भी मिला,फिलहाल अमित के बारे में पता कराया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:झारखंड एक्सप्रेस में लावारिस अटैची से उड़े होश