DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूलों की मान्यता संबंधी फाइल नहीं बढ़ सकी आगे

प्राइवेट स्कूलों को जिला स्तर पर मान्यता देने के बारे में कोई कदम नहीं उठाया सका है। इससे दो सौ स्कूलों को मान्यता देने का मामला लटका हुआ है। मान्यता को लेकर निजी स्कूल संचालक डीसी से भी मिल चुके है। फिर भी इस बारे में कोई पहल नहीं हो सकी है। जिला स्तर पर उन स्कूलों को मान्यता दी जाएगी जो वर्ष 2007 तक विभाग को फार्म नम्बर-2 जमा करा चुके है। डीसी की अध्यक्षता वाली कमेटी आवश्यक औपचारिकताओं को पूरा करने वाले स्कूलों केा मान्यता देगी।


साइबर सिटी में लगभग 250 से अधिक प्राइवेट स्कूलों ने शिक्षा विभाग को मान्यता के लिए आवेदन किया हुआ है। लेकिन, विभाग के कड़े निदेंशों के कारण अधिकांश स्कूल मानकों पर खरे नहीं उतर रहे थे। सीएम के हस्ताक्षेप से मान्यता देने के प्रावधानों को ठीला कर दिया गया था। सरकार ने मान्यता को चंडीगढ़ देने के बजाय जिला स्तर पर देने का निर्णय लिया हुआ है। इसमें वर्ष 2007 तक फर्म नंबर-2 यानि मान्यता के लिए आवेदन जमा करा चुके स्कूलों को शामिल किया गया है। डीसी की अध्क्षता में एडीसी, एसडीएम,डीईओ और डीईईओ को शामिल होगी। लेकिन अभी तक कमेटी का गठन नहीं किया जा सका है। जिससे स्कूलों को मान्यता देने का मामला लटका हुआ है।

प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष सतबीर सिंह ने बताया कि वर्ष 2003-2007 के 160 स्कूलों को जिला स्तर पर मान्यता देनी है। इसे जल्द पूरा कराने के लिए डीसी को ज्ञापन भी दिया गया था लेकिन अभी तक कमेटी भी नही बन पाई है। उन्होंने कहा कि प्रशासन को जल्द कमेटी बनाकर स्कूलों की मान्यता संबंधी कार्रवाई पूरी करनी चाहिए ताकि अगले सत्र में बच्चाों का एडमिशन किया जा सके। मान्यता मिलने में हो रही देरी से स्कूल संचालकों में नाराजगी है। उनका कहना है जिला स्तर पर होने के बाद ही अभी तक केाई इस बारे में पहल नहीं हो सकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्कूलों की मान्यता संबंधी फाइल नहीं बढ़ सकी आगे