DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

12/10 को 3:07 पर नोएडा मेट्रो हुई शुरू

सीएम की हरी झंडी और मेट्रो शुरू
सेक्टर-32 से हरी झंड़ी दिखा किया रवाना
केन्द्र सरकार पर बरसी


इंतजार खत्म हुआ और तीन बजकर सात मिनट पर मेट्रो को सेक्टर-32 से हरी झंड़ी दिखा मुख्यमंत्री मायावती ने लाखों लोगों के सपने को पूरा किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि एनसीआर में अक्सर नए कीर्तिमान का श्रेय लेने वाले नोएडा ने मेट्रो के मामले में भी यह श्रेय हासिल किया। इसके आने से उद्यमी वर्ग, मध्यम वर्ग, मजदूर वर्ग सहित उन सभी लोगों को सहूलियत मिली जो दिल्ली व अन्य शहरों से नोएडा आना-जाना करते हैं। मुख्यमंत्री मायावती ने इसके लिए डीएमआरसी को धन्यवाद दिया और अथॉरिटी की भी सराहना की, जिसने अपने फंड से 557 करोड़ रुपए डीएमआरसी को दिए।

धन्यवाद देते ही मुख्यमंत्री सीधे केन्द्र सरकार पर बरसीं और कहा कि उनकी इच्छा है कि मेरी सरकार चाहती है कि मेट्रो जेवर एयरपोर्ट तक जाए, लेकिन केन्द्र सरकार एयरपोर्ट मामले में टालमटोल कर रही है। इससे कई विकास योजनाएं रुकी हुई हैं। इस मौके पर उन्होंने आश्वासन दिया कि जल्द ही मेट्रो का विस्तार ग्रेनो तक किया जाएगा। मायावती ने अंबेडकर पार्क पर अफसोस जताया और कहा कि जिन समाज सुधारकों व चिंतकों की अक्सर उपेक्षा की जाती रही है, उनके लिए वे नोएडा में एक पार्क बनवा रही हैं, लेकिन अभी भी उसकी उपेक्षा हो रही है।
इस मौके पर उन्होंने स्थानीय उद्यमी सहित कई योजनाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंेने कहा कि दिल्ली-मुंबई कॉरीडोर के माध्यम से दादरी मुंबई के बंदरगाह से सीधे जुड़ेगा और इससे औद्योगिक क्रांति आएगी। मुख्यमंत्री के अलावा प्रेस वार्ता में डीएमआरसी के एमडी ई. श्रीधरन, तीनों अथॉरिटी के चेयरमैन ललित श्रीवास्तव, सतीश चंद्र मिश्र, कैबिनेट सचिव शशांक शेखर, स्थानीय सांसद, विधायक, डिबाई के विधायक रिटायर्ड कई फौजी सहित शहर के गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे

कदम रुके पार्क के सामने
प्रेस वार्ता कर 3:50 पर सेक्टर-32 से निकलीं मुख्यमंत्री मायावती के कदम आखिरकार अपने ड्रीम प्रोजेक्ट अंबेडकर पार्क के आगे ठहर ही गए। हालांकि वे अपनी कार से नहीं उतरीं, लेकिन एक बाहरी नजर मार वे सीधे दिल्ली के लिए रवाना हो गईं। यमुना के किनारे कांशीराम संग्रहालय व पार्क बनाया जा रहा है, लेकिन वर्तमान में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इस पर रोक लगी है जिसके कारण चाह कर भी वह इस पर निर्माण नहीं करा पा रही हैं। प्रेस वार्ता के दौरान भी उन्होंने यह चुभन मीडिया के समक्ष रखी।
 

कुछ अन्य जानकरियां

रजनीगंधा क्रासिंग होगी कुछ खास
दिल्ली मेट्रो ने सेक्टर-16 में रजनीगंधा क्रासिंग के निकट नोएडा एक्सटेंशन पर विशेष स्पैन बनाए हैं। ये स्पैन मेट्रो रेलपथ की 330 मीटर लंबी साइडिंग के एक हिस्सा है जिसमें 16स्पैन हैं जिनमें से 7 स्पैन प्रत्येक तीन1 गर्डर वाले अत्याधिक लंबे हैं। ये 1 गर्डर एक साथ जोड़ दिए गए हैं और दो खंबों पर टिके हैं। ये स्पैन लगभग 28-31 मीटर लंबे है जबकि सामान्य स्पैन की लंबाई 15 मीटर है। ये स्पैन न केवल संरचना के लिए अनुकूल हैं बल्कि इनकी लागत भी कम है। इन स्पैन का उतथिापन करने में समय कम लगता है क्योंकि इन स्पैनों के लिए बड़े 1 गर्डरों का प्रयोग  किया गया है। इन विशेष स्पैनों के निर्माण से यह सुनिश्चित हुआ कि कैप्टैन विजयंत मार्ग पर मेट्रो निर्माण के दौरान यातायात रोकना नहीं पड़ा जब स्पैनों का निर्माण किया जा रहा था।

मेट्रों के आने इनको मिला फायदा
ग्रेनो की कंपनियों की दूरी हुई कम
कंपनियों ने बसों को सेक्टर-32 पर तक समेटा: मेट्रों के आते ही ग्रेनो की कई नामी गिरामी कंपनियों से अपनी बसों के दिल्ली जाने वाले रुटों को खत्म कर दिया है और उनको सीधे सेक्टर-32 से जोड़ा है। मोजरबीयर,होडा सिएल, मिंडा सहित कई कंपनियों सीधे बसे 13 नवम्बर से सीधे सेक्टर=32 से पिक एंड ड्राप करेंगी। इसके अलावा चोधरी ट्रेवेल्स के अनुसार उनकी तीस दिल्ली जाने वाले टैक्सियों में पूल अब केवल ग्रेनो के सुरजपूर से सेक्टर=32 तक ही चलेगें।

प्रापर्टी में उछाल: अब तक सबसे मंहगे सेक्टर कहे जाने वाले सेक्टर-44 से ज्यादा प्रापटी की मांग सेक्टर-71,50,49,मोरना गांव, 34 की हो गई है। प्रापटी डीलर मार्किट एसोसिएशन के महासचिव संजय शर्मा के अनुसार गत कुछ दिनों से इन सेक्टरों में प्रापर्टी के रेट बढ़ गए है। अभी हाल में एक प्लॉट बिका जिसका रेट सेक्टर-44 से भी ज्यादा है। उन्होंने इसका कारण सीधे मेट्रो को बताया। हालांकि उन्होंने कहा कि मेट्रो सेक्टर-44 के पास भी है,लेकिन उसके लिए काफी घूम के आना पड़ेगा जबकि इन सेक्टरों के लिए नहीं। यही नहीं ग्रेनो में भी प्रापटी में उछाल आ रहा है।

गेस्ट हाऊस वालों को रास आई मेट्रो: मेट्रो ट्रेक आसपास बने होटलों में गत माह की अपेक्षा इस बार एडवांस बुंकिग हुई है। कंई निजी कंपनिया जो गेस्ट हाऊस व होटल लीज व मासिक किराए पर लेती थी उन्होंने अब मेट्रो के ईदगिर्द ही लेना शुरु किया है। होटल रामा को चला रहे बंसत जोशी ने बताया कि अभी मेट्रो चली नहीं है,लेकिन एचसीएल हमारी गेस्ट हाऊस को दो माह के लिए बुक किया है। उनके अुनसार सेक्टर- 2 के सबसे नजदीक यही होटल है। उसके अनुसार कई और कंपनियों ने उनके होटल में कमरे की मांग की हैं।

नोएडा स्टेशन की कुछ विशेषताएं
नोएडा के स्टेशनों की नई और आधुनिक छवि है। स्टेशनों की बाहा्र सतहों पर एसीपी(एल्यूमिनियम कंपोजिट पैनल) का इस्तेमाल। यह तकनीक अधिकांशत: मॉल्स और अन्य आधुनिक भवनों की बाहरी सतहों पर प्रयोग की जाती है ताकि वे सुंदर और अत्याधुनिक दिखाई दें।

 स्टेशन अभिकल्प के एक अविकल भाग के रुप में, स्टेशन के प्रवेश स्थलों से स्टेशन के गैर अदायगी भागों को भीतर तक जाने वाली सभी सीढीयां दैनिक यात्राियों द्वारा सड़क पार करने के लिए पैदल पार पुल के रूप में भी काम करेंगी।

 भू-तल से कॉनकोर्स सतह तक सवारियों को ले जाने के लिे सभी स्टेशनों पर एक लिफ्ट और एक एस्केलेटर है। भविष्य की आवश्यकतानुसार के लिए एक लिफ्ट और एक एस्केलेटर और लगाए जा सकते है।

 नोएडा के सभी स्टेशनों पर कॉनकोर्स और प्लेटफार्म दो लिफ्ट और एस्केलेटर से जोड़े जाएंगे, सिवाय बोटनीकल गार्डन स्टेशन के जहां इस तल पर एक लिफ्ट होगी।

 मेट्रो रेलवे (निर्माण की संरचना) अधिनियम, 1978 और दिल्ली मेट्रो(परिचालन और अनुरक्षण)अधिनियम, 2002 को संशोधित करने के लिए और इन अधिनियमों का विस्तार समस्त राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में करने के लिए मेट्रो रेलवे संशोधन अधिनियम, 2009 पारित किया गया है।


2:52 पर मुख्यमंत्री सेक्टर 32 स्टेशन पहुंचीं
3:00 पर नोएडा मेट्रो का किया अनावरण
3:07 पर नोएडा मेट्रो को हरी झंडी दिखाया
3:10 पर मेट्रो में सवार हो सेक्टर 16 गईं
3:26 पर वापस सेक्टर 32 स्टेशन पहुंचीं
3:30 पर संवाददाता सम्मेलन में पहुंचीं
3:45 पर संवाददाता सम्मेलन से बाहर हुईं
3:50 पर सेक्टर 32 स्टेशन से निकल गईं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:12/10 को 3:07 पर नोएडा मेट्रो हुई शुरू