DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मालदार बनना है तो सब्जियों के बीज उगाइए

किसान पारंपरिक फसलों की बजाय सब्जियों के बीज पैदा करें तो मालामाल हो सकते हैं। इसके लिए उन्हें बीज उत्पादन की तकनीकी जानकारी हासिल करनी होगी। सर्दियों में रवि की प्रमुख फसल गेंहू के बजाय फू ल गोभी की विशिष्ट प्रजातियों का बीज उत्पादन कर 10 से 15 गुना अधिक मुनाफा कमाया जा सकता है।

गोविंद बल्लभ पंत कृषि एवं वानिकी विश्वविद्यालय के पर्वतीय परिसर रानीचौरी के सब्जी विज्ञान विभाग ने फूल गोभी की तीन ऐसी प्रजातियों पर शोध किया है जिसका बीज उत्पादन केवल शीतोष्ण जलवायु में किया जाता है। इसके लिए पहाड़ी क्षेत्र की जलवायु मुफीद मानी जा रही है। काश्तकार अब फूल गोभी की पीएसबी (पूसा स्नो बॉल)1,पीएसबी के वन और के 25 प्रजाति का बीज उत्पादन कर 15 गुना अधिक मुनाफा कमा सकते हैं।

परिसर के सब्जी विज्ञान के विभागाध्यक्ष डाक् एसपी उनियाल ने बताया कि फूल गोभी में पीएसबी 1, पीएसबी के वन व पीसबी के की बड़ी मांग है लेकिन इसका बीज उत्पादन केवल पहाड़ों में किया जा सकता है। बताया कि इन प्रजातियों की बीज बुवाई के लिए 10 डिग्री तथा फूल के लिए 30 डिग्री सेल्सियस से कम तापमान चाहिए जो कि गोभी की फसल को देखते हुए केवल पहाड़ों पर ही संभव है।

उन्होंने बताया कि 6000 फिट से अधिक ऊंचाई पर पहाड़ों में यह तापमान गेंहू की फसल के समय रहता है। ऐसे में काश्तकार गेंहू के बदले फूल गोभी की पीएसबी ग्रुप की प्रजातियों का बीज उत्पादन कर अच्छा लाभ कमा सकते हैं। सामान्यत: एक नाली खेत से 50 किग्रा गेंहू उत्पादन किया जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मालदार बनना है तो सब्जियों के बीज उगाइए