DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक में जन्मे अमेरिकियों के वीजा पर फैसला दिल्ली से

भारतीय सुविधाओं पर हमले के लिए शिकागो के निवासी डेविड कोलमैन हेडली के उपयोग के सनसनीखेज रहस्योदघाटन के बाद अमेरिका स्थित भारतीय दूतावास ने पाकिस्तान में जन्मे अमेरिकी नागरिकों के लिए वीजा नियमों को कड़ा कर दिया है और अब ऐसे आवेदनों पर फैसला नई दिल्ली में होगा।

केंद्रीय गृह सचिव जीके पिल्लई ने हाल ही में इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं जिनके अनुसार भारतीय वीजा के लिए पाकिस्तान में जन्मे अमेरिकी नागरिकों के सभी आवेदन अब अमेरिका के दूतावास के बजाय नई दिल्ली में निबटाए जाएंगे और उन पर अंतिम फैसला किया जाएगा।

यह कदम लश्कर-ए-तैयबा की उस साजिश के भंडाफोड़ के मद्देनजर उठाया गया है जिसमें पाकिस्तान आधारित यह आतंकवादी समूह पाकिस्तान में जन्मे अमेरिकी नागरिक डेविड कोलमैन हेडली के जरिए भारत में आतंकवादी हमले की साजिश रच रहा था।

अमेरिकी एजेंसी एफबीआई की जांच में यह उजागर हुआ कि दिल्ली का नेशनल डिफेंस कालेज, देहरादून का दून स्कूल और मसूरी का वुडस्टाक स्कूल लश्कर के निशाने पर थे।

भारत और अमेरिका के बीच अच्छे संबंधों के चलते अमेरिकी नागरिक आसानी से भारतीय वीजा पाते रहे हैं। इसके अलावा, वाशिंगटन स्थित भारतीय दूतावास के अतिरिक्त न्यूयॉर्क, हयूस्टन, शिकागो और सैन फ्रांसिस्को स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास भी भारतीय वीजा जारी करते हैं।

अमेरिका स्थित सभी भारतीय मिशनों को अब इस नियम का पालन करने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं। हर साल करीब आठ लाख अमेरिकी भारत की यात्रा करते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाक में जन्मे अमेरिकियों के वीजा पर फैसला दिल्ली से