DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब लालकिला, चारमिनार से ताज का टिकट

अब लालकिला, चारमिनार से ताज का टिकट

दुनिया के सात आश्चर्यों में शुमार ताज महल को देखने के लिए अब पर्यटक देश के किसी भी स्मारक से टिकट खरीद सकेंगे। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह 16 नवम्बर को नई टिकट व्यवस्था का शुभारम्भ करेंगे।

अधीक्षण पुरातत्वविद डा. ए.आर सिद्दीकी ने बताया कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एएसआई) ने पर्यटकों को ताजमहल में प्रवेश के लिए लगने वाली लम्बी लाइनों से निजात दिलाने के लिए आगरा विकास प्राधिकरण (एडीए) के साथ मिलकर एक कम्पोजिट टिकट तैयार किया है जिससे देशी विदेशी सैलानियों को अलग से पथकर नही देना होगा। इसमें दोनों विभाग का शुल्क शामिल है।

सिद्दीकी ने बताया कि ताज की टिकट की बिक्री की यह सुविधा पूरे देश में किसी भी स्मारक या पर्यटन स्थल पर 17 नवम्बर से उपलब्ध होगी। हालांकि इसकी शुरुआत विदेशी पर्यटकों से की जाएगी और बाद में यह सुविधा देशी पर्यटकों को भी दी जाएगी। उन्होंने बताया कि कम्पोजिट टिकट से टिकटों की री सेलिंग की संभावना भी नही रहेगी।

गौरतलब है कि वर्तमान में विदेशी सैलानियों के लिए ताज दर्शन के लिए 250 रु. प्रवेश शुल्क तथा पथकर के रुप में 500 रु. लिए जाते हैं जब कि देशी पयर्टकों को दोनों शुल्क के लिए 20 रु. देने पड़ते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब लालकिला, चारमिनार से ताज का टिकट