DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दरोगा की खातिर

ऐसा कम ही सुनने में आता है कि किसी जगह पुलिस के किसी दरोगा की लोकप्रियता इतनी ज्यादा हो कि उनके तबादले के विरोध में लोग आंदोलन छेड़ दें। बिहार के बख्तियारपुर के दरोगा इस बात पर खुश हो सकते हैं, लेकिन उन लोगों का क्या कसूर था, जिनकी ट्रेन को जनता ने रोक लिया और उसके इंजन को अलग कर दिया। सौभाग्य से कोई बड़ी दुर्घटना नहीं हुई और सभी संबंधित पक्ष सही सलामत हैं लेकिन ऐसी घटना का हश्र बहुत बुरा भी हो सकता है। किसी का इस देश में साम्यवादी क्रांति करने का भव्य लक्ष्य हो या दरोगा के तबादले पर स्थानीय असंतोष, भारतीय रेलवे सबके लिए एक आसान निशाना बनती है। कभी गांव मोहल्ले के लड़के रेलगाड़ी पर चांदमारी का अभ्यास करते हैं और किसी निदरेष यात्री का सिर फूटता है, कभी यात्री किसी अनजान जगह पर बिना खाना-पानी के पड़े रहते हैं। भारत में रेलवे सबसे ज्यादा असुरक्षित है, ट्रेनों को रोकना आसान है और उनकी सुरक्षा के भी इंतजाम नहीं होते। ट्रेनों में सभी यात्री अपने-अपने घर से दूर रहते हैं और उपद्रवी स्थानीय होते हैं, इसलिए उपद्रवियों की ताकत बहुत ज्यादा हो जाती है। रेलवे उपद्रवियों का आसान निशाना इसलिए भी बनती है, क्योंकि उन्हें आमतौर पर सजा नहीं मिलती। रेलवे की सुरक्षा के लिए जो बल है,ं वे आमतौर पर किसी काम के नहीं होते और स्थानीय पुलिस की ऐसे अपराधों को रोकने और अपराधियों को दंडित करने में खास दिलचस्पी नहीं होती। लेकिन जरूरी है कि सरकार रेलवे की सुरक्षा के लिए सख्त इंतजाम करे। इसके लिए एक तो यह जरूरी है कि रेलवे से संबंधित उपद्रवों के अपराधियों को सख्त सजा दी जाए, इससे किसी भी छोटे-मोटे मामले पर ‘रेल रोको’ किस्म के आंदोलन करने वालों को सबक मिलेगा। इसके अलावा हर ट्रेन की सुरक्षा का भी इंतजाम किया जाना चाहिए, आखिरकार यात्री रेलवे के भरोसे हजारों किलोमीटर का सफर करते हैं उनकी सुरक्षित और निर्विघ्न यात्रा की जिम्मेदारी भारतीय रेलवे की है। इसके अलावा रेल रोकना या तोड़-फोड़ करना इतना आसान है और जैसा कि बख्तियारपुर की घटना ने बताया कि रेल इंजन और डिब्बों को हाइजैक करना आसान है, ऐसे में कोई आतंकवादी गिरोह कोई बड़ी वारदात कर सकता है। ट्रेनों पर आतंकवादी हमले भी होते रहे हैं, लेकिन उनके बाद भी रेलवे सुरक्षा की स्थिति जरा भी नहीं सुधरी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दरोगा की खातिर