DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुख्यात बदमाश मुन्ना बजरंगी की जान को खतरा

उत्तर-प्रदेश के कुख्यात इनामी माफिया मुन्ना बजरंगी द्वारा पुलिस हिरासत में जान का खतरा बताने संबंधी याचिका पर दिल्ली पुलिस ने अदालत को आरोपी सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता रखने का आश्वासन दिया है।। तीस हजारी स्थित चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट कावेरी बावेजा की अदालत ने पुलिस को आरोपी की सुरक्षा की कमान सौंपते हुए याचिका का निपटारा कर दिया है।


बचाव पक्ष की ओर से दायर याचिका में कहा गया था कि उनके मुवक्किल को उत्तर-प्रदेश पुलिस से जान का खतरा है। दरअसल उनके मुवक्किल को वर्ष 1998 में हिरासत के दौरान जहर का इंजेक्शन देने की कोशिश की गई थी। वह मामला सब्जी मंडी थाने में दर्ज है। बचाव पक्ष का कहना था कि आरोपी को अदालत लाने और वापस ले जाते समय विशेष सुरक्षा मुहैया कराई जाए। वहीं अभियोजन पक्ष की ओर से जवाब दाखिल किया गया कि पुलिस की डय़ूटी ही सभी की सुरक्षा करना है। फिर वह कोई कैदी हो या आम आदमी। ऐसे में पुलिस हिरासत में सुरक्षा की मांग करने का औचित्य नहीं बनता। कानून में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है जिसके तहत पुलिस हिरासत में विशेष सुरक्षा के इंतजामात के आदेश दिए जाएं और फिर आरोपी को पहले ही बुलेट प्रुफ गाड़ी में अदालत लाया जाता है।
अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता ने बचाव पक्ष की दलील को काटते हुए कहा है कि जिस जहर के इंजेक्शन के वाक्ये का जिक्र बहस में किया गया है। उक्त प्राथमिकी पूर्व में ही रद्द की जा चुकी है। खैर अदालत ने पुलिस के आश्वासन के बाद याचिका का निपटारा कर दिया है। उल्लेखनीय है कि दिल्ली पुलिस ने बजरंगी व उसके साथी मुख्तार अंसारी पर मकोका लगाया है। मकोका के तहत मुन्ना 30 दिन की रिमांड पर दिल्ली पुलिस की हिरासत में है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुख्यात बदमाश मुन्ना बजरंगी की जान को खतरा