DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निगम ने खोला निजी पेट्रोल पम्प,लाखों की बचत का दावा

खास बातें:
-निगम के पास मौजूद हैं 276 वाहन
-135 भारी तथा 141 है हल्के वाहन
-हर माह 50 हजार लीटर की है खपत
-80 पैसे लीटर सस्ता पड़ेगा डीजल

 
गाजियाबाद सूबे का ऐसा पहला नगर निगम बन गया है जिसके पास अपना पेट्रेाल पम्प है। निर्माणाधीन हिंडन हाइवे के किनारे नन्दी पार्क के सामने स्थापित इस पेट्रोल पम्प का उद्घाटन महापौर व नगरआयुक्त ने संयुक्त रूप से किया। निगम के एक गाड़ी में डीजल भरकर बकाएदे पम्प की शुरूआत की गई। शुक्रवार सुबह से निगम की सभी डीजल चलित गाड़ियों को इसी पम्प से ईंधन दी जाएगी। निगम के पम्प से ईंधन भरने पर निगम को लगभग 80 पैसे प्रतिलीटर की दर से शुद्ध बचत भी होगी।


निगम का दावा है कि इससे हर माह कई लाख रूपए की बचत होगी,साथ ही कम दाम में शुद्ध ईंधन की आपूर्ति होने से निगम के वाहनों के मेंटीनेंस पर आने वाले लाखों के खर्चे में जबरदस्त कमी आएगी। उद्घाटन अवसर पर नगर आयुक्त अजय शंकर पांडेय ने बताया कि लगभग दस लाख की लागत से पम्प की स्थापना की गई। अपनी जमीन होने के कारण लागत कम आई। पम्प के मामले में गाजियाबाद निगम सूबे का ऐसा पहला निगम बन गया जिसके पास अपना पेट्रोल पम्प है। इंडियन ऑयल कंपनी से कंज्यूमर पम्प के लाइसेंस वाले इस पम्प में एकबार 20 हजार लीटर ईंधन की क्षमता है।


पत्रकारों से बातचीत में महापौर दमयंती गोयल व नगर आयुक्त पांडेय ने बताया कि निगम के पास इतनी गाड़ियां है कि प्रत्येक महीने निगम को लगभग 50 से 60 हजार लीटर ईंधन खरीदी जाती है। खरीदी ईंधन में शुद्धता की गारंटी ने होने से वाहनों के मेंनटीनेंस में भी निगम को लाखों खर्च पड़ता है। जिसमें अब कटौती हो जाएगी। निगम अब पेट्रेाल पम्प के पास ही खाली पड़ी जमीन पर पीपीपी मॉउल पर वाहनों के लिए वर्कशॉप खोलने पर भी विचार कर रहा है। गाड़ियों के मेंटीनेंस में भी टेक्नीकल स्टाफ निगम को ही मोटा चूना लगाते रहे हैं। इस अवसर पर पार्षद रश्मि गुप्ता,स्वास्थ्य अधिकारी डा.एसडी शर्मा,डा.के के त्यागी,पम्प प्रभारी अभियंता गयूर अहमद, महापौर के सलाहकार मुकेश त्यागी आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निगम ने खोला निजी पेट्रोल पम्प,लाखों की बचत का दावा