DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिल मालिकों के साथ गन्ना मंत्री की वार्ता बेनतीजा

बुधवार को दिल्ली में यूपी के गन्ना मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी की चीनी मिल मालिकों से हुई वार्ता बेनतीजा रही। सूत्रों के अनुसार सिद्दीकी ने मिल मालिकों से कहा कि चीनी मिलें राज्य सरकार के एसएपी पर पेराई शुरू कर दें और किसानों को उसी हिसाब से गन्ने का भुगतान करें। इस पर मामला बिगड़ गया और चीनी मिल मालिक वार्ता से चले गए।

चीनी मिलों और किसानों के बीच गतिरोध बढ़ता ही जा रहा है। केंद्र द्वारा समर्थन मूल्य की व्यवस्था खत्म कर एफआरपी 129.84 रुपये घोषित कर दिया है। शुगर कंट्रोल आर्डर 1966 में केंद्र ने संशोधन कर नई व्यवस्था बनाई है। नई व्यवस्था में अगर राज्य सरकार एफआरपी से ज्यादा का भुगतान करने के लिए चीनी मिलों पर दबाव बनाएगी तो एसएसपी ओर एफआरपी के बीच की धनराशि का अंतर उसे अपने खजाने से करना होगा।

मंगलवार को केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार ने दिल्ली में चीनी मिल मालिकों के साथ मीटिंग की थी। बुधवार को प्रदेश के गन्ना मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी दिल्ली पहुंचे और चीनी मिल मालिकों को वार्ता के लिए बुलाया। सूत्रों के अनुसार मंत्री ने मिल मालिकों से तत्काल पेराई सत्र शुरू करने को कहा।

गन्ना मूल्य की बात आई तो उन्होंने मिलों को प्रदेश के एसएसपी 165-170 रुपये के हिसाब से भुगतान की बात कही। मिल मालिकों ने संशोधन का हवाला देते हुए एफआरपी और एसएपी का अंतर राज्य सरकार को वहन करने के लिए कहा तो गन्ना मंत्री ने साफ इंकार कर दिया। बाद में वार्ता बेनतीजा खत्म हो गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मिल मालिकों के साथ गन्ना मंत्री की वार्ता बेनतीजा