DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रमंडल खेलः दिल्ली को चाहिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के शौचालय

राष्ट्रमंडल खेलः दिल्ली को चाहिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के शौचालय

अगले साल होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों की तैयारी के बारे में राष्ट्रमंडल खेल महासंघ द्वारा संतोष प्रकट किए जाने के एक महीने बाद साफ सफाई के मुद्दे पर काम करने वाली एक प्रमुख गैर सरकारी संगठन ने बुधवार को कहा कि मेहमानों को उचित सुविधाएं देने के लिए बहुत कुछ करने की जरूरत है। वर्ल्ड टॉयलेट आर्गेनाईजेशन के प्रमुख जैक सीम ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में सिर्फ एक साल बाद इन खेलों का आयोजन होना है, लेकिन यहां अंतरराष्ट्रीय स्तर के शौचालयों को बनाए जाने का कार्य अभी बाकी है।

सीम ने कहा कि शौचालय एक बहुत संवेदनशील मुद्दा है। लोग शौचालय के महत्व को नहीं समझते हैं। साफ सुथरा शौचालय शहर में आने वाले पर्यटकों पर सही प्रभाव डालता है। इसलिए शौचालय साफ सुथरे और कीटाणु रहित होने चाहिए। उन्होंने चीन का उदाहरण देते हुए कहा कि उसने वर्ष 2008 के बीजिंग ओलंपिक के लिए वर्ष 2003 से ही साफ सुथरे शौचालय बनाने का अभियान छेड़ दिया था और इस शहर में ओलंपिक से दो साल पहले ही वर्ष 2006 तक विश्व स्तरीय शौचालय तैयार हो गए थे।

उन्होंने कहा कि नए शौचालयों को पूरे शहर में बनाया जाना चाहिए और इन्हें खेल स्थलों पर तो खास तौर पर बनाया जाना चाहिए। सीम ने कहा कि शौचालय किसी शहर की संस्कृति को दिखाता है। बीजिंग ओलंपिक के लिए बेहतर साफ सफाई सुविधाएं उपलब्ध कराने वाले सीम ने कहा कि उनकी संस्था राष्ट्रमंडल खेलों के लिए उचित शौचालय की सुविधा मुहैया कराने में दिल्ली सरकार की सहायता को तैयार है।

सेंटर फॉर सिविल सोसाइटी की साहना शेख के मुताबिक दिल्ली में महिलाओं के लिए सिर्फ 132 सुविधाघर हैं और वह भी खराब हालत में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रमंडल खेलः दिल्ली को चाहिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के शौचालय