DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईटीआई मृत छात्र का शव नहीं मिला

आईटीआई छात्र के अपहरण और हत्‍या के छह दिन बीत जाने के बाद भी पड़ोसी जिले उन्‍नाव से पुलिस उसके शव को बरामद नहीं कर पाई है ।  अगर छात्र का शव बरामद नहीं होता है तो पकड़े गये आरोपियों के खिलाफ मामला कमजोर हो जायेगा और वे संदेह के लाभ पर छूट भी सकते हैं ।
   
पुलिस सूत्र इस बात की संभावना से भी इंकार नहीं कर रहे हैं कि पड़ोसी जिले उन्‍नाव की पुलिस ने अपने सिर से बला टालने के लिये आईटीआई छात्र का शव गंगा नदी में फेंक दिया हो अथवा उसे ठिकाने लगा दिया गया हो ।

 गौरतलब है कि पीलडगन फैक्‍ट्री में कार्यरत गोविंदनगर निवासी सलाउद्दीन का बेटा जियाउददीन उर्फ अली उम्र 18 वर्ष, आईटीआई का छात्र था। वह पांच नवबंर की शाम से लापता था। बाद में उसके घर वालों के पास फिरौती के लिये फोन आया लेकिन तब तक छात्र की हत्‍या हो चुकी थी ।
   
पुलिस ने इस संबंध में उसके मोहल्‍ले के चार लड़कों को हिरासत में लेकर जब पूछतांछ की तो उन्‍होंने बताया कि उन्‍होंने दुश्‍मनी के कारण छात्र का अपहरण कर उसकी हत्‍या कर दी थी और शव उन्‍नाव जिले के अजगैन में फेंक दिया था ।
  
 डीआईजी बीपी जोगदंड ने बताया कि पिछले तीन दिन से कानपुर पुलिस की कई टीमें डाग स्‍कवायड के साथ उन्‍नाव के अजगैन जिले में चप्‍पे चप्‍पे की तलाशी ले रहे हैं लेकिन पुलिस को शव अभी तक नही मिला है लेकिन पकड़े गये युवकों द्वारा छात्र को मारने का जो स्‍थान बताया गया था वहां से खून से रंगा एक चाकू तथा जमीन पर खून के धब्‍बे मिले हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईटीआई मृत छात्र का शव नहीं मिला