DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

योग दिल की सेहत के लिए भी लाभकारी

योग दिल की सेहत के लिए भी लाभकारी

अगर आप अपने दिल को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो नियमित योग इसके लिए एक बेहतर उपाय है क्योंकि भारतीय अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि श्वास संबंधी अभ्यास, लंबी सांस लेना और उसे धीरे धीरे छोड़ना, चिंतन आदि से हदय की सेहत में सुधार होता है।

उत्तराखंड के रूड़की स्थित आईआईटी के अनुसंधानकर्ताओं की मानें तो स्वस्थ हदय की प्रतीक मानी जाने वाली दिल की धड़कन योग करने वालों में अधिक तेज होती है जबकि योग न करने वालों में यह धीमी होती है। संस्थान के इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग के रमेश कुमार सुंकारिया, विनोद कुमार और सुरेश चंद्र सक्सेना ने हदय पर योग का प्रभाव देखने के लिए पुरूषों के दो समूह बनाए।

दल का कहना है कि शुरू में उन्होंने 84 स्वयंसेवकों पर अध्ययन किया। जो लोग नियमित योग करते थे उनके पैरासिम्पेथेटिक कंट्रोल में मजबूती पाई गई। यह दिल की धड़कन पर बेहतर स्वायत्त नियंत्रण का संकेत था जो बताता है कि हदय स्वस्थ है। अनुसंधानकर्ताओं ने अध्ययन के लिए 42 स्वस्थ पुरूष स्वयंसेवकों के इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम :ईसीजी: के एचआरवी स्पेक्ट्रा का विश्लेषण किया। ये लोग नियमित योग नहीं करते थे। नियमित योग करने वाले 42 अन्य स्वस्थ स्वयंसेवकों के ईसीजी के एचआरवी स्पेक्ट्रा का भी विश्लेषण किया गया। सभी की उम्र 18 साल से 48 साल के बीच थी।

दल का कहना है कि एचआरवी का स्पेक्ट्रा विश्लेषण हदय की सेहत और धड़कन दर के नियमन की प्रकिया बताने का एक महत्वपूर्ण उपाय है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:योग दिल की सेहत के लिए भी लाभकारी