DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डुमिनी के शतक से दक्षिण अफ्रीका जीता

डुमिनी के शतक से दक्षिण अफ्रीका जीता

मध्यक्रम के बल्लेबाज जेपी डुमिनी के शानदार नाबाद 111 रनों की बदौलत दक्षिण अफ्रीका ने मंगलवार को यहां खेले गए दूसरे वनडे मैच में जिम्बाब्वे को 212 रनों के विशाल अंतर से हरा दिया।

332 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी जिम्बाब्वे की टीम 35वें ओवर में ही मात्र 119 रनों पर ही सिमट गई। जिम्बाब्वे की ओर से सर्वाधिक 52 रन तातेंदा टायबू ने बनाए। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने निर्धारित 50 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 331 रनों का भारी भरकम स्कोर खड़ा किया।
 
लक्ष्य का पीछा करने उतरी जिम्बाब्वे की टीम कभी भी लक्ष्य के आस-पास पहुंचती नजर नहीं आई। टीम के दोनों सलामी बल्लेबाज ब्रेंडन टेलर और एच मास्कादजा बिना खाता खोले ही पैवेलियन लौट गए। जिम्बाब्वे की ओर से सर्वाधिक 32 रनों की साझेदारी तीसरे विकेट के लिए तायबू और स्टुअर्ट मैट्सकेन्यरी के बीच हुई।
 
तायबू के अलावा टीम का कोई भी बल्लेबाज दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजों की चुनौती का सामना नहीं कर सका। टीम के छह बल्लेबाज तो दहाई का आंकडा छूने में भी असफल रहे। दक्षिण अफ्रीका की ओर से टीम में वापस लौटे गेंदबाज चार्ल्स लेंगवेल्ट, ऑलराउंडर एल्बी मोर्कल और स्पिनर वान डर मर्व ने तीन-तीन विकेट लिए।
 
इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने डुमिनी के नाबाद शतकीय पारी की मदद से पांच विकेट के नुकसान पर 331 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। डुमिनी के अलावा कप्तान ग्रीम स्मिथ ने 53 और जैक्स कैलिस ने 81 रन बनाए। डुमिनी का वनडे मैचों में यह पहला शतक है।
 
दक्षिण अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए शानदार शुरूआत की। कप्तान ग्रीम स्मिथ और जैक्स कैलिस की जोड़ी ने पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की। 121 के स्कोर तक स्मिथ और एबी डिविलियर्स पैवेलियन लौट चुके थे। इसके बाद डुमिनी ने मोर्चा संभाला और अन्य बल्लेबाजों के साथ छोटी-छोटी साझेदारी करते हुए टीम के स्कोर को पांच विकेट के नुकसान पर 331 रनों तक पहुंचाया।
 
जिम्बाब्वे की ओर से स्पिनर रेमंड प्राइस ने 55 रन देकर तीन तथा पी उत्सेया ने दो विकेट लिए। इसके अलावा टीम का कोई भी गेंदबाज अपनी छाप छोड़ने में सफल नहीं रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डुमिनी के शतक से दक्षिण अफ्रीका जीता