DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय मूल के नाई को हो सकती है 20 साल की सजा

भारतीय मूल के नाई को हो सकती है 20 साल की सजा

मलेशिया की शीर्ष अदालत ने अपील अदालत के फैसले को बरकरार रखते हुए अपने भारतीय साथी की बर्बर तरीके से हत्या करने के आरोपी एक भारतीय मूल के नाई के मामले में कहा कि उसे 20 साल की सजा सुनाई जा सकती है।

शीर्ष अदालत के इस फैसले का मतलब यह है कि निचली अदालत इस अपराध में उसे कड़ी से कड़ी सजा सुना सकती है, भले ही आरोपी अपना अपराध कुबूल कर ले। अपराध कुबूल करने पर सजा कम हो सकती है। स्थानीय मीडिया में यह जानकारी दी गई है।

30 वर्षीय कार्तिसेल्वम ने अदालत द्वारा उसे पिछले साल सुनाई गई सजा को शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी। उस पर मार्च, 2005 में दक्षिणी मलेशिया के जोहूर बारू में एक ड्रेसिंग सैलून में भारतीय साथी एम वेंकटचलम की हत्या करने का आरोप है। वेंकटचलम की सिल का बट्टा मार कर हत्या कर दी गई थी।
  
उप-सरकारी वकील अहमद बाछे ने संवाददाताओं को बताया कि यह पहली बार है कि शीर्ष अदालत ने निचली अदालत के सजा को बढ़ाने संबंधी फैसले को सही करार देने के तर्क को स्वीकार कर लिया।
   
बाछे ने इससे पूर्व अदालत को बताया था कि यह हत्या बेहद नृशंस तरीके से की गई। कार्तिसेल्वम ने सिल का बट्टा उठाकर सोते हुए वेंकटचलम के सिर पर दे मारा था।
  
उन्होंने बताया कि हत्या इसलिए की गई क्योंकि कार्तिसेल्वम को डर था कि वेंकटचलम को पैसे और फोन चोरी किए जाने का पता चल जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारतीय नाई को हो सकती है 20 साल की सजा