DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय जलपोत जलावतरण के लिए तैयारः रूस

भारतीय जलपोत जलावतरण के लिए तैयारः रूस

रूस की पोत निर्माण कंपनी यांतार भारतीय नौसेना के लिए निर्मत कर रही तीन में से एक जलपोत इस माह के अंत तक जलावतरण करने के लिए तैयार है।

पोत निर्माण कंपनी के प्रवक्ता सेरगेई मिखाईलोव ने मंगलवार को कहा कि पहले जलपोत का जलावतरण नवम्बर के अंत तक हो जाने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि जलावतरण का मतलब यह नहीं है कि समुद्री परीक्षण तुरन्त प्रारंभ होगा। उनको अभी पोत निर्माण के बाद के कार्यों को पूरा करना है। पोत का परीक्षण 2010 में शुरू होगा।

मिखाईलोव ने कहा कि कंपनी तीनों जलपोतों को 2011-2012 तक भारत को सौंपने में सक्षम है। ग्यातव्य है कि रूस एक अरब साठ करोड़ डॉलर के अनुबंध के तहत भारतीय नौ सेना के लिए तलवार श्रेणी के तीन युद्धक पोतों का निर्माण कर रहा है। इस अनुबंध पर जुलाई 2006 में हस्ताक्षर हुए थे।

हाल में राष्ट्रपित प्रतिभा पाटिल ने इन तीनों जलपोतों का नाम तेज, तरकश और त्रिकंद रखा है। ये पोत आठ ब्रह्मोस प्रक्षेपास्त्र से भी लैस होंगे। इससे पहले रूस ने भारतीय नौ सेना के लिए तलवार श्रेणी के तीन युद्धक पोत आईएनएस तलवार, आईएनएस त्रिशूल और आईएनएस तबार निर्मत किए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारतीय जलपोत जलावतरण के लिए तैयारः रूस