DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हजकां में अब इकलौते कुलदीप विश्नोई बचे

हरियाणा जनहित कांग्रेस के समालखा से जीते पांचवें विधायक धर्म सिंह छोकर भी मंगलवार को कांग्रेस से जा मिले हैं। इस प्रकार अब विधानसभा में कांग्रेस सदस्यों की संख्या बढ़ कर 45 हो गई है। छोकर को कांग्रेस का सदस्य घोषित करते हुए विधानसभा अध्यक्ष हरमोहिन्दर सिंह चट्ठा ने मंगलवार को कहा कि सोमवार को चार हजकां विधायकों के साथ ही उनका फैक्स भी आगया था लेकिन वे स्वयं नहीं पहुंच सके थे। उन्होंने कहा चूंकि उनका फैक्स टाइम पर आ गया था इसलिए छोकर भी उसी गुट का हिस्सा माने जाएंगे जो कल कांग्रेस में शामिल किया गया है।

उन्होंने कहा कि इसमें कोई असंवैधानिक बात नहीं है। अध्यक्ष ने कहा कि राज्य विधान सभा में 90 स्थान हैं, लेकिन चूंकि इनेलो प्रमुख ओम प्रकाश चौटाला दो स्थानों से जीते हैं इस लिए सदन की प्रभावी सदस्य संख्या 89 ही मानी जाएगी। ऐसे में 45 सदस्य हो जाने से कांग्रेस बहुमत में आगई है। हजकां के  छह विधायक ही जीते थे जिनमें से पांच पाला बदल कर कांग्रेस में जा चुके हैं।

अपने सारे विधायक खो चुके हजकां प्रमुख कुलदीप विश्नोई ने मंगलवार को कहा कि उनकी पार्टी के जिन विधायकों ने दलबदल किया है उनकी विधान सभा सदस्यता खत्म कर उन्हें पदच्युत किया जाना चाहिए। इसके लिए विधान सभा अध्यक्ष व उच्च न्यायालय में अपील की जाएगी। उन्होंने कहा कि उनकी विधान सभा सदस्यता समाप्त करवा कर हजकां चुनाव में जनता के दरबार में जाएगी। उन्होंने कहा कि मैं प्रदेश की जनता, इन पांच हलकों के मतदाताओं व पार्टी कार्यकर्ताओं से माफी चाहता हूं कि उन्हें सिद्धांतवादी, योग्य व ईमानदार उम्मीदवार नहीं दे पाया।
दूसरी ओर इनेलो ने कांग्रेस पर दलबदल को बढ़ावा देने और खरीद-फरोख्त की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए इसे बेहद शर्मनाक व प्रजातन्त्र के लिए घातक बताया है। इनेलो के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्य मन्त्री ओम प्रकाश चौटाला ने कांग्रेस द्वारा हजकां विधायकों को कांग्रेस में शामिल किए जाने की तीखी आलोचना करते हुए इसे पूरी तरह से अनैतिक व असंवैधानिक बताते हुए इसे प्रदेश के माथे पर कलंक बताया।

इनेलो प्रमुख ने कहा कि इस बार विधानसभा चुनाव में लोगों ने कांग्रेस के खिलाफ जनादेश दिया और यह बात साबित हो गई थी कि प्रदेश में कांग्रेस का जनाधार सिमट गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा ही दलबदल को बढ़ावा देने और खरीद-फरोख्त की राजनीति की है और मौजूदा घटनाक्रम से दलबदल कानून की सरेआम धज्जियां उड़ाई गई हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कारण पहले ही प्रदेश दलबदल और आया राम गया राम की राजनीति के लिए बदनाम रहा था और बड़ी मुश्किल से प्रदेश की माथे पर लगा  दलबदल का शर्मनाक कलंक साफ हो पाया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हजकां में अब इकलौते कुलदीप विश्नोई बचे