DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माओवादी संघर्ष विराम के लिए तैयारः किशनजी

माओवादी संघर्ष विराम के लिए तैयारः किशनजी

शीर्ष माओवादी नेता किशनजी ने मंगलवार को कहा कि माओवादी सरकार के साथ संघर्ष विराम के लिए तैयार हैं लेकिन वे हिंसा छोड़ने की केंद्र की मांग को स्वीकार नहीं करेंगे।

गृह सचिव जीके पिल्लै ने बयान दिया था कि यदि माओवादी हिंसा छोड़ने का वचन लेते हैं तो उनके साथ बातचीत की संभावना है, इस पर प्रतिक्रिया देते हुए किशनजी ने कहा कि हिंसा छोड़ना हमारे एजेंडे में नहीं है। हम सशस्त्र संघर्ष में विश्वास रखते हैं।

किशनजी ने कहा कि यदि सरकार पहल करती है तो माओवादी संघर्ष विराम के लिए तैयार हैं। शीर्ष माओवादी नेता के मुताबिक, सरकार एकपक्षीय तरीके से संघर्ष विराम की पहल कर सकती है। हम भी संघर्ष विराम की घोषणा करने के लिए तैयार हैं।

किशनजी ने कहा कि हम कुछ तौर तरीके तय कर सकते हैं और उनके बाद हम संघर्ष विराम की घोषणा कर सकते हैं। यदि सरकार ईमानदार है और वास्तव में हमसे बातचीत करना चाहती है तो हम सहयोग करेंगे। पिल्लै ने पिछले रविवार को एक सम्मेलन में कहा था, हमने (माओवादियों के साथ बातचीत के) मुद्दे को उठाया है। गृह मंत्री ने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष रवि राय को लिखित संदेश भेजा है। उन्होंने कहा कि कृपया शुरुआत करें। हमें कुछ जवाब मिला। कोई बातचीत, कोई प्रक्रिया शुरू हो रही है। देखते हैं। लेकिन मुझे लगता है कि जब तक वे हिंसा नहीं छोड़ते बातचीत संभव नहीं है।

किशनजी ने कहा कि रवि राय काफी लंबे समय से इसकी कोशिश कर रहे हैं। पहले भी उन्होंने प्रधानमंत्री को दो पत्र लिखे लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। किशनजी ने कहा कि मेरे पास भी पत्र की प्रतियां हैं। अब गृह मंत्री ने कहा है कि उन्होंने रवि राय को पत्र लिखा है और उम्मीद जताई है कि कुछ बातचीत शुरू हुई है।

शीर्ष माओवादी नेता से जब पूछा गया कि क्या बातचीत में सरकार की इच्छा के लिहाज से पिल्लै का प्रस्ताव सकारात्मक है तो जवाब था, पिल्लै ने कोई नई बात नहीं कही। चिदंबरम पिछले एक महीने से यह बात कह रहे हैं। किशनजी ने कहा कि हम सरकार से एक ठोस प्रस्ताव के लिए कहते हैं। हम उस पर काम करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:माओवादी संघर्ष विराम के लिए तैयारः किशनजी