DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अजय राय ने चौथी बार जीती कोलअसला सीट

वाराणसी जिले की कोलअसला सीट पर निवर्तमान विधायक अजय राय ने चौथी बार विजय पताका फहराया। श्री राय इस बार निर्दल प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतरे थे। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बसपा के जय प्रकाश मिश्र को 8837 मतों से पराजित किया। तीसरे स्थान पर अपना दल के सरोज कुमार उर्फ मुन्ना चौबे थे जबकि सपा को चौथा स्थान हासिल हुआ। तीन दफा भाजपा के खाते में रही कोलअसला सीट पर पार्टी की बेहद दयनीय स्थिति हो गयी। कांग्रेस को भी बुरी पराजय झेलनी पड़ी। अजय राय के इस्तीफे से ही यह सीट खाली हुई थी।

वाराणसी संसदीय सीट से चुनाव लड़ने के लिए अजय राय ने भाजपा से बगावत कर डा.मुरली मनोहर जोशी के खिलाफ ताल ठोंका था। उन्होंने सपा का दामन थामा लेकिन पार्टी से टिकट न मिलने पर निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में मैदान में आ गए। बसपा की प्रतिष्ठा दांव पर थी। प्रदेश के परिवहन मंत्री रामअचल राजभर दो महीने से डेरा डाले थे और अंतिम समय में पार्टी के घोषित उम्मीदवार डा.अवधेश सिंह का टिकट कटवाकर जेपी मिश्र को मैदान में उतारा था।

सूबे में विधानसभा सीट के लिए हुए उप-चुनाव में अब से पहले कोई निर्दल प्रत्याशी विजयी नहीं हुआ था। खास यह कि श्री राय ने इस सीट पर नौ बार चुनाव जीतने वाले ऊदल का भी रिकार्ड तोड़ दिया। ऊदल कुल नौ बार तो जीते थे लेकिन उनकी जीत लगातार नहीं थी। निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में मैदान में आने के बाद अजय राय के राजनीतिक भविष्य पर ही सवाल उठने लगे थे। तमाम विपरीत परिस्थितियों के बावजूद उनकी जीत ने अब उन्हें पूर्वी उत्तर प्रदेश में एक बड़े नेता के रूप में स्थापित कर दिया है।

कोलअसला सीट के हुए उप-चुनाव में श्री राज को 43 हजार 711 वोट मिले, जबकि इनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी सत्तारूढ़ दल बसपा के जेपी मिश्र को सिर्फ 34 हजार 874 मतों से संतोष करना पड़ा। दोनों दलों के बीच क्षेत्रीय पार्टी अपना दल का प्रदर्शन भी अच्छा रहा। इस पार्टी के प्रत्याशी सरोज कुमार उर्फ मुन्ना चौबे ने 32 हजार 239 वोट हासिल किया। चौथे स्थान पर रहे सपा प्रत्याशी नंदलाल पटेल को 18 हजार 851 वोट मिले। पांचवे स्थान पर रहे सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के जितेंद्र सिंह जित्तू ने 8 हजार 888 वोट हासिल किया।

छठे स्थान पर रहे निर्दल प्रत्याशी बेदीराम। इन्हें 4 हजार 005 मत मिले। इस चुनाव में भाजपा सातवें स्थान पर रही। इसके प्रत्याशी अजय सिंह को 3 हजार 649 वोट मिले। आठवें स्थान पर रहे कांग्रेस के डा.जेपी सिंह को सिर्फ 2 हजार 437 मतों से संतोष करना पड़ा। कोलअसला विधानसभा सीट का यह आखिरी चुनाव था। इसके बाद यह सीट पिंडरा के नाम से जानी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अजय राय ने चौथी बार जीती कोलअसला सीट