DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दबाव के आगे झुका मनु शर्मा, लौटा तिहाड़ जेल

दबाव के आगे झुका मनु शर्मा, लौटा तिहाड़ जेल

जेसिका लाल हत्याकांड में दोषी ठहराया गया मनु शर्मा अपनी पैरोल की समय सीमा खत्म होने के पूर्व मंगलवार को खुद ही तिहाड़ जेल लौट आया।

पैरोल के नियम तोडे़ जाने की बात पर शर्मा हर तरफ से आलोचना का शिकार हो रहा था। आलोचनाओं के बाद दिल्ली सरकार ने भी आरोपों की जांच के लिए पुलिस को आदेश दे दिए हैं।

जेल के एक उच्चस्तरीय अधिकारी ने बताया कि 32 वर्षीय मनु शर्मा मंगलवार सुबह लगभग 11:45 पर वापस जेल आ गया। मनु की दो महीने की पैरोल अवधि 22 नवंबर को खत्म हो रही थी।

सितंबर माह की 22 तारीख को अपनी मां की बीमारी के आधार पर पैरोल पर छूटे शर्मा के शनिवार की रात को एक नाइटक्लब में देखे जाने की खबरें आईं थी। उसकी मां को भी पिछले सप्ताह चंडीगढ़ में एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए देखा गया था।

शहर के एक होटल के बार के सहमालिक और अभिनेता अर्जुन रामपाल ने भी शर्मा को वहां देखने की पुष्टि की थी। इन खबरों से भारी विवाद पैदा हो गया था। कानून के विशेषज्ञों और विपक्षी भाजपा ने आरोप लगाया था कि शर्मा को दिल्ली सरकार के राजनीतिक दबाव के कारण पैरोल पर छोड़ा गया है। इस आरोप को मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने खारिज करते हुए कहा था कि उसे नियमानुसार पैरोल पर छोड़ा गया है।

आलोचनाओं के बाद दिल्ली सरकार ने शहर की पुलिस को इस मामले में जांच करने के आदेश दे दिए हैं। पुलिस जांच करेगी कि क्या शर्मा ने चंडीगढ़ से बाहर जाकर पैरोल नियमों का उल्लंघन किया है।


दिल्ली सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि शर्मा को दिल्ली में नहीं होना चाहिए क्योंकि उसे इस शर्त पर पैरोल दी गई थी कि वह अपनी बीमार मां से मिलने के लिए चंडीगढ़ जा रहा है। उन्होंने कहा हमने दिल्ली पुलिस से एक विस्तृत रिपोर्ट मांगी है कि क्या शर्मा दिल्ली गया था।

रामपाल ने कहा कि शर्मा क्लब के एक सदस्य और एक अग्रणी निर्यात कंपनी के मालिक साहिल ढींगरा के मेहमान के रूप में बार में आया था। अभिनेता ने दावा किया हमें जब यह पता चला कि शर्मा बार में आया था, तो हमने उस सदस्य की सदस्यता वापस ले ली। हमें शर्मा के आने के बारे में सीसीटीवी फुटेज से जानकारी मिली।

ढींगरा के खिलाफ शिकायत मिलने के बाद पुलिस एलएपी बार आई। ढींगरा ने कथित तौर पर नजदीकी अशोक होटल के एफ बार में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के बेटे के साथ मिल कर हंगामा मचाया था।

सूत्रों ने बताया कि ढींगरा बार में कथित तौर पर शर्मा के साथ था। बार में जेसीटी लिमिटेड का प्रबंध निदेशक और उपाध्यक्ष समीर थापर भी मौजूद था, जिसे ढींगरा के साथ ऐहतियाती हिरासत में ले लिया गया। हालांकि शर्मा कथित तौर पर बार के पिछले दरवाजे से निकल भागा।

थापर ने कहा कि वह बार से जाने ही वाला था, तभी पुलिस ने उससे कार से बाहर आने को कहा। इसके बाद पुलिस उसे और ढींगरा को पुलिस थाने ले गई। उसने बताया कि पुलिस ने ढींगरा से पूछा कि क्या शर्मा उसके साथ था।

थापर ने आरोप लगाया कि उसके साथ आरोपियों की तरह का बर्ताव किया गया और उसे यह भी नहीं बताया कि उसे 12-13 घंटे तक हिरासत में क्यों रखा गया।

दिल्ली पुलिस पर आक्रोश व्यक्त करते हुए थापर ने कहा पूरा अनुभव मेरे लिए बहुत कष्टदायक रहा। वह ऐसा किसी के भी साथ कर सकते हैं। यह मेरे लिए बहुत कड़वा अनुभव रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दबाव के आगे झुका मनु शर्मा, लौटा तिहाड़ जेल