DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़कों पर उतरा शपथग्रहण विवाद, चौतरफा निंदा

सड़कों पर उतरा शपथग्रहण विवाद, चौतरफा निंदा

समाजवादी पार्टी के विधायक अबु आसिम आजमी पर महाराष्ट्र विधानसभा के भीतर हमले और उसके बाद मनसे विधायकों के निलंबन के चलते सोमवार को महाराष्ट्र के विभिन्न हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हुआ।

पुलिस ने कहा कि मुंबई के शिवाजी नगर में आजमी के समर्थकों ने अपने नेता के साथ हुई घटना के विरोध में चार बस और कुछ ऑटो रिक्शा को क्षतिग्रस्त कर दिया। उन्होंने दो सीट मानखुर्द-शिवाजी नगर और भिवंडी से निर्वाचित आजमी के समर्थन में नारे भी लगाये। पुलिस ने सपा कार्यकर्ताओं को तितर बितर करने के लिये लाठी चार्ज भी किया।
   
पुलिस उपायुक्त दिलीप सावंत ने कहा, हमने हालात पर नियंत्रण के लिये आजमी समर्थकों पर लाठीचार्ज किया। 10 लोगों को हिरासत में लिया गया है। अशांति की आशंका के चलते दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद कर दीं। पुलिस ने कहा कि मध्य रेलवे के गोवांडी स्टेशन पर भी ट्रेनों का परिचालन पटरियों पर विरोध प्रदर्शनकारियों के जमा होने के बाद बाधित रहा।

पुलिस के मुताबिक, टीवी चैनलों पर विधानसभा में हुए हंगामे की तस्वीरें देखने के बाद सपा कार्यकर्ता सड़कों पर निकल आये और उन्होंने पथराव किया। उन्होंने भिवंडी में एमएसआरटीसी की तीन बसों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया।

पुलिस ने कहा कि समान तरह की घटना मुम्ब्रा में भी हुई जो मुंबई के बाहरी इलाके में स्थित अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्र है। ठाणे में मनसे कार्यकर्ताओं ने आजमी का पुतला जलाया। नासिक में भी मुंबई नाके पर मनसे कार्यकर्ताओं ने आजमी का पुतला जलाया और नासिक मध्य सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले वसंत गीते सहित पार्टी विधायकों के निलंबन का विरोध किया। घटना के बाद पुलिस ने शहर के महत्वपूर्ण स्थानों पर सुरक्षा कड़ी कर दी।

इस बीच, मालेगांव में सपा कार्यकर्ताओं ने शहर अध्यक्ष रिजवान बैटरीवाला के नेतृत्व में राज ठाकरे का पुतला जलाने की असफल कोशिश की। मालेगांव में सपा कार्यकर्ताओं के कथित पथराव में सड़क परिवहन निगम की एक बस में तोड़फोड़ की गयी। पुलिस ने कहा कि पुणे के वारजे क्षेत्र में भी मनसे कार्यकर्ताओं के बसों पर पथराव करने की खबरें हैं। वारजे खड़कवासला विधानसभा क्षेत्र के तहत आता है जहां से रमेश वांजले विधायक हैं। वह मनसे के उन चार विधायकों में शामिल हैं जिन्हें सोमवार को सदन से निलंबित किया गया। इस बीच, आजमी ने अपने पार्टी कार्यकर्ताओं से शांति बनाये रखने की अपील की है।

उधर, विभिन्न राजनीतिक दलों ने हिन्दी में शपथ लेने के कारण सपा विधायक अबू आसिम आजमी के साथ मनसे के सदस्यों के दुर्व्‍यवहार की कड़ी निन्दा करते हुए पार्टी की मान्यता खत्म करने तथा राज ठाकरे को गिरफ्तार करने की मांग की है।
    
भाजपा ने इस घटना की निंदा करते हुए मनसे के साथ ही कांग्रेस और राकांपा पर भी निशाना साधा। पार्टी ने कहा कि कांग्रेस और राकांपा के मौन समर्थन के कारण ही मनसे आज इस रूप में खड़ी है और सिर्फ राजनैतिक उददेश्य के लिए इस 'दैत्य' को खड़ा किया गया है।
    
कांग्रेस ने इस घटना को शर्मनाक बताते हुए इसकी जोरदार भर्त्सना की और सभी तरह की कानूनी कारवाई किये जाने का भरोसा दिलाया। पार्टी ने कहा, जो कुछ भी हुआ वह शर्म की बात है। इसकी जितनी भी निंदा और भर्त्सना की जाये, कम है।
    
समाजवादी पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने आजमी के साथ की गयी अभद्रता की निंदा करते हुए कहा कि अबू आजमी ने हिन्दी में शपथ लेकर न केवल राष्ट्रभाषा का बल्कि पूरे देश का सम्मान बढ़ाया है।
    
मुलायम ने कहा कि मैं अबू आजमी को बधाई और धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने हिन्दी में शपथ लेकर राष्ट्रभाषा का सम्मान बढ़ाया है।
      
जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने भी इस घटना की निंदा की और इसे राष्ट्रभाषा का अपमान बताया। वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मनसे पर प्रतिबंध की मांग करते हुए कहा कि इस 'गैरकानूनी हरकत' में शामिल विधायकों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए।

कुमार ने पटना में कहा कि यह अत्यंत निंदनीय हरकत है़, मनसे के विधायकों के खिलाफ आपराधिक दंड संहिता के तहत कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए।

घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने कहा कि अगर विभाजनकारी तत्वों पर काबू के लिए तत्काल कदम नहीं उठाए गए तो देश का विघटन हो सकता है।
     
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के डी राजा ने कहा कि हर किसी को अपनी पसंद की भाषा में शपथ लेने का अधिकार है।
    
राजद की सहयोगी पार्टी लोजपा के प्रमुख रामविलास पासवान ने केंद्र और चुनाव आयोग से मांग की कि राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल होने पर मनसे के खिलाफ तत्काल प्रतिबंध लगाया जाए या उसकी मान्यता रद्द की जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सड़कों पर उतरा शपथग्रहण विवाद, चौतरफा निंदा