DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब रोबोट दिलाएंगे नौकरी

रोबोट चेख शब्द ‘रोबिट’ से मिलकर बना है जिसका अर्थ ‘काम’ और ‘रोबोटा’, मतलब नौकर या दास होता है। मौजूदा दौर में रोबोट द्वारा हृदय और अन्य जटिल ऑपरेशन करना, सुरंगों की खुदाई व कार असेंबलिंग करना आम बात हो गई है।
  
बार-बार करने वाले कामों, असुरक्षित कामों को पूरी क्वालिटी और सुरक्षा के साथ करने में रोबोट आदर्श होता है। अचरज नहीं होना चाहिए अगर रोबोट को 21वीं शताब्दी की सबसे महत्वपूर्ण टेक्नोलॉजी में शुमार किया जाए।

ऑटो इंडस्ट्री में आने वाले समय में चलने वाली हाइब्रिड और इलेक्ट्रिक कारों का ही उदाहरण लेते हैं। इनकी असेंबलिंग करना मुश्किल काम होगा और रोबोट इसके लिए फिट रहेंगे। परिणामस्वरूप ऑटोमेटिव और ट्रांसपोर्ट इंडस्ट्री में दुनिया भर में नई संभावनाएं बनेंगी। आने वाले समय में हेल्थ केयर और इससे जुड़े मुद्दे लोगों के जेहन में सबसे ऊपर होंगे। सजर्री की कई जटिल प्रक्रियाओं में इंडस्ट्रियल रोबोट का इस्तेमाल दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है। साथ ही इनका इस्तेमाल फूड प्रोडक्शन और पैकेजिंग में भी किया जा रहा है।

कोरिया सर्विस एप्लीकेशन्स में रोबोट का जमकर इस्तेमाल कर रहा है। मिसाल के तौर पर सीनियर सिटीजन की देखभाल जैसे कार्यो में। वहीं अमेरिका युद्ध के मैदानों में सैनिकों की रक्षा के लिए रोबोट का प्रयोग कर रहा है। कई यूरोपियन कंपनियां सोलर पैनल बनाने में रोबोट का इस्तेमाल कर रही हैं। आश्चर्य नहीं होना चाहिए अगर भविष्य में रोबोटिक्स इंजीनियरिंग स्नातकों के लिए अपार संभावनाओं वाले करियर के तौर पर सामने आए।

क्या है जरूरी
इस क्षेत्र में प्रवेश पाने के लिए जरूरी है कि आपने मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल और कंप्यूटर इंजीनियिरिंग का अध्ययन किया हो। आईआईटी, बिट्स पिलानी और अन्य इंजीनियरिंग कॉलेज आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, रोबोटिक्स, एडवांस्ड रोबोटिक्स सिस्टम, इंटेलीजेंट कंट्रोल, इमेज प्रोसेसिंग, न्यूरल नेटवर्क और फजी लॉजिक में स्पेशलाइज्ड कोर्स ऑफर करते हैं। आईआईटी ने रोबोटिक सेंटर बनाया है जो कि कई कंपनियों के सहयोग द्वारा नवीनतम प्रोडक्ट बनाता है।

कार्य
रोबोटिक्स की पढ़ाई करने के बाद आपको रोबोट बनाने और इस्तेमाल करने वाले इंजीनियर और प्रोफेशनल की बुनियादी इंजीनियरिंग सिद्धांतों और टेक्निकल स्किल्स द्वारा मदद कर सकते हैं। इसमें डिजाइन के बारे में निर्देश, ऑपरेशनल टेस्टिंग, सिस्टम मेंटेनेंस और रिपेयर भी शामिल होता है। रोबोटिक्स लांग टर्म, रिसर्च आधारित करियर है। इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए आपको धैर्य की जरूरत है।

अवसरों की कमी नहीं
इस क्षेत्र में प्रशिक्षित प्रोफेशनल्स की मांग तेजी से बढ़ रही है पर उस तादाद में लोगों की कमी है। भेल, बीएआरसी और सीएसआईआर फ्रेश ग्रेजुएट की नियुक्ति बतौर वैज्ञानिक करता है। आप चाहें तो पोस्टग्रेजुएशन स्तर पर स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं। माइक्रोचिप मैन्यूफैक्चरिंग के लिए इंटेल जैसी कंपनी में बतौर रोबोटिक्स और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस विशेषज्ञ के तौर पर नियुक्ति करती है। इसके अलावा, इसरो और नासा में भी रोबोटिक्स के विशेषज्ञों की नियुक्तियां की जाती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब रोबोट दिलाएंगे नौकरी