DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहीदों के सपनों का राज्य बनाना है : अल्वा

राज्यपाल मार्गेट आल्वा ने कहा कि उत्तराखंड को शहीदों के सपनों का राज्य बनाना है। सरकार ने राज्य के विकास के लिए विजन-2020 का जो लक्ष्य रखा है, उसके लिए निरंतर प्रयास करना है। सोमवार को राज्य स्थापना दिवस की नौवीं वर्षगांठ पर पुलिस लाइन में आयोजित रैतिक परेड की सलामी लेने के बाद राज्यपाल ने यह बात कही।

उन्होंने राज्यवासियों को बधाई देते हुए कहा कि बच्चों के लिए स्वास्थ्य सुविधाएं, शिक्षा और पुष्टाहार, महिलाओं के लिए सम्मान, सुरक्षा और आराम, युवाओं के लिए रोजगार सुनिश्चित किया जाना चाहिए। साथ ही कई तरह की चुनौतियां भी प्रदेश के समक्ष हैं। उसी आधार पर राज्य के विकास की नीति भी होनी चाहिए। विकास के लिए सभी को आगे आकर कंधे से कंधा मिलाकर चलना होगा।

इससे पूर्व राज्यपाल ने परेड का निरीक्षण किया। पारंपरिक बैंड बाजों की धुन पर परेड कमांडर एसएसपी अभिनव कुमार और सेकेंड परेड कमांडर एसपी टिहरी केवल खुराना के नेतृत्व में शसस्त्र शाखाओं की दस टुकड़ियों ने बेहतरीन कदमताल कर राज्यपाल को सलामी दी। पुलिस की दंगा नियंत्रण फोर्स, जल पुलिस, फायर ब्रिगेड, कमांडो दस्ता, संचार सेवा, डॉग स्कवॉयड, फोरेंसिक यूनिट, अश्व पुलिस और चीता पुलिस आदि का भी प्रदर्शन किया गया।

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक, विधान सभा अध्यक्ष हरबंस कपूर, भाजपा अध्यक्ष एवं काबिना मंत्री विशन सिंह चुफाल, कृषि मंत्री त्रिवेंद्र रावत, मेयर विनोद चमोली, मुख्य सचिव आईके पांडे, अपर मुख्य सचिव एनएस नपलच्याल, प्रमुख सचिव सुभाष कुमार, शत्रुघन सिंह, डीजीपी  सुभाष जोशी आदि उपस्थित रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शहीदों के सपनों का राज्य बनाना है : अल्वा