DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देवेंद्र मुखिया के पहले शिकार थे मधु सिंह

देवेंद्र मुखिया के तार झारखंड में पिछले पांच सालों से जुड़े हैं। राज्य बनने के बाद उनका आना-जाना लगा था। सत्ताधारियों के बीच उठना-बैठना और दलाली करना मुख्य काम था। 2004 में एनडीए सरकार के एक मंत्री मुखिया के पहले शिकार हुए थे। अर्जुन मुंडा कैबिनेट में राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री मधु सिंह को बर्खास्तगी का दंश भी झेलना पड़ा। मुखिया ने ऑडियो स्टिंग में ही मधु सिंह को फांसा था। इस पर काफी बवाल भी हुआ था।

जून 2004 में एक स्थानीय दैनिक ने खबर प्रकाशित की थी कि मधु सिंह ने किसी से पचास लाख रुपए रिश्वत मांगा। पैसे लेने के  आरोप से संबंधित बातचीत का पूरा ब्यौरा अखबार में प्रकाशित हुआ था। संयोगवश उस दिन समता पार्टी का अधिवेशन रांची में हो रहा था। जॉर्ज फर्नाडीज और शरद यादव भी मौजूद थे।

खबर प्रकाशित होते ही हंगामा मच गया था। मधु सिंह भी समता पार्टी के विधायक थे। केंद्रीय नेताओं ने तत्काल मामले को संज्ञान में लिया और भाजपा नेताओं से मिलकर मधु सिंह को कैबिनेट से बर्खास्त करने की बात रखी। काफी खींचतान के बाद जुलाई में उन्हें बर्खास्त कर दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:देवेंद्र मुखिया के पहले शिकार थे मधु सिंह