DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्चों को मानसिक उत्पीड़न देने पर पब्लिक स्कूल को नोटिस

डीएलएफ और खेतान  पब्लिक स्कूल की ओर से फीस के मामले को लेकर लगातार आ रही मानसिक उत्पीड़न की शिकायतों को देखते हुए डीआईओएस रविन्द्र सिंह ने दोनों स्कूलों को नोटिस भेजा है। डीआईओएस ने कहा है कि अगर उन्होंने बच्चों का उत्पीड़न तत्काल बंद नहीं किया तो उनकी एनओसी रद्द करने के लिए संस्तुति कर दी जाएगी।

डीआईओएस कार्यालय को शनिवार और सोमवार में डीएलफ स्कूल के बच्चों और अभिभावकों की ओर से बच्चों की मानसिक उत्पीड़न को लेकर 250 से भी ज्यादा शिकायत-पत्र आए हैं। वहीं खेतान पब्लिक स्कूल के अभिभावकों ने इस मामले में एडीएम सिटी सुनिल कुमार श्रीवास्तव से शिकायत की। उन्होंने इस मामले में डीआईओएस को तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। डीएलएफ पैरेंटस एसोसिएशन के विनित बजाज का कहना है कि स्कूल में उन सभी बच्चों के साथ गलत बरताव किया जा रहा है, जिनके पैरेंट्स ने नई दर से फीस नहीं दी है। इसमें बच्चों को क्लास में सबके सामने खड़ा करके कहना कि तुम्हारे पिता ने फीस नहीं दी है, बच्चों के रिपोर्ट कार्ड रोक लिए गए हैं, बच्चों को स्कूल के विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेने से रोका जा रहा है आदि। इसके साथ ही स्कूल ने एक नोटिस भेजा है कि अगर पैरेंटस 5 नवम्बर तक बढ़ी हुई दर से फीस नहीं जमा करवाते हैं तो उनके बच्चों का नाम स्कूल से काट दिया जाएगा।

खेतान के पैंरेंटस एसोसिएशन के अध्यक्ष शेखर भारती का कहना है कि शिक्षक स्कूल में बच्चों को क्लास में सबके सामने फीस के लिए टोकते हैं, उन्हें स्कूल के किसी भी गतिविधि में भाग नहीं लेने देते हैं। यहां तक कि स्कूल ने एक नोटिस के जरिए कहा है कि अगर आप बढ़ी हुई फीस जमा नहीं करते हें तो अपने बच्चों को स्कूल ना भेजें। खेतान पब्लिक स्कूल के प्रबंधक राकेश खुल्लड़ का कहना है कि पैरेंटस को 2009 में बढ़ी हुई फीस के आधार पर ही फीस देनी होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बच्चों को मानसिक उत्पीड़न देने पर पब्लिक स्कूल को नोटिस