DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भव्य सदाबहार पाम

भव्य सदाबहार पाम

उद्यान में, घरों की क्यारी में, सड़क के किनारे व गमले में सज यह पौधा अत्यन्त सुंदर लगता है। वीथियों के किनारे सजे लम्बे-लम्बे रॉयल पाम हों या घरों में गमले में सजे फैन पाम, उनकी छटा ही निराली होती है। न टहनियां, न फूल, केवल तने पर सजे पत्तों का झुरमुट। बहुत कम मेहनत से लगाया जने वाला यह पौधा नारियल, सुपारी व खजूर का ही संबंधी है। चाहे लम्बे ऊंचे, बोतलनुमा सफेद स्लेटी तने वाले, लम्बी-लम्बी पत्तियां लहराते रायल पाम अथवा फिशटेल पाम हों, दोनों ही किसी उद्यान को वैसी ही शोभा देते हैं, जसे गमलों में सजे फैनपाम-लिविस्टोना सिनेसिस, जिसे फाउंटेन पाम भी कहते हैं। छटा दोनों की निराली होती है। इसके पंखे जसे चौड़े विशाल पत्ते अत्यन्त चमकदार, बीच में लाइनदार नसों वाले और किनारे झलरनुमा काटवदार होते हैं।

संसार के सबसे बहुउपयोगी प्रजाति के इस पाम का एक ही तना होता है, जिसके पत्ते तने के ऊपर मुकुट की तरह लगे चारों तरफ फैले हुए होते हैं। कई बार जड़ के आसपास और पौधे भी निकल आते हैं, परंतु पौधे का एक ही तना होता है, उसकी शाखाएं नहीं होतीं। बड़े हो जने पर उसमें फूल व फल भी आ जते हैं और उनके बीज ही उग कर और पौधे बन जाते हैं। गमलों में लगाए जने के लिए लिविस्टोनिया रोटन्डीफोलिया, लिविस्टोनिया मोरिसियाना, कैन्थिया मैकार्थरी, एरिका ल्यूरेशेन्स उपयोगी किस्में हैं। चाइनीज पाम नाम से प्रसिद्ध पाम के पत्तों पर धागे जैसे बहुत ही कोमल तंतु पौधे को आकर्षक बना देते हैं। चिकने चमकदार पत्तों पर किनारे के ये कोमल तंतु अत्यन्त कमनीय
लगते हैं।

पौधा गमले में लगाने के लिए एक भाग गोबर की पुरानी खाद, एक भाग पत्ती की खाद व एक भाग बालू रेत मिलाकर मिश्रण तैयार कर लें। सभी जड़ों को फैलने के लिए पर्याप्त स्थान चाहिए, इसलिए गमला चाहे मिट्टी का हो या सीमेंट का, छोटा नहीं होना चाहिए। इसके पौधे को जल्दी-जल्दी बदलना नहीं चाहिए। पुराना हो जने पर ऊपर की मिट्टी दो-तीन इंच तक निकाल कर उसमें तैयार कम्पोस्ट खाद, थोड़ा हड्डी का चूरा मिला कर भर दें व खुरपी से गुड़ाई करके पानी भर दें। पाम का गमला कभी सूखा नहीं रहना चाहिए। तेज सर्द व गर्म दोनों हवाओं से इसे बचाना चाहिए। पौधा पुराना हो जने पर बदलना भी पड़े तो ध्यान रहे कि इसकी जड़ों को चोट नहीं पहुंचनी चाहिए।
पाम के पत्तों को, विशेषकर चौड़े पत्तों वाली किस्मों में पत्तों की सफाई का विशेष ध्यान रखें अन्यथा धूल भरे पत्ते खराब  तो लगेंगे ही, साथ ही आकर्षण खो देंगे। मुलायम कपड़े से सफाई करने के अतिरिक्त कभी-कभी पानी की
फुहार से पत्तों की धुलाई करते रहना चाहिए। पौधे के नीचे की सूखी व मृत पत्तियों को काट देना चाहिए। मिली-जुली धूप-छाया वाला स्थान इन्हें प्रिय है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भव्य सदाबहार पाम