DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

त्रिवेणी इंजीनियरिंग करेगी 14 प्रतिशत अधिक गन्ना पेराई

चीनी कंपनी त्रिवेणी इंजीनियरिंग एंड इंडस्ट्रीज ने सोमवार को कहा कि कंपनी इस साल चार लाख टन गन्ने की पेराई करेगी जो पिछले साल के मुकाबले 14 प्रतिशत अधिक है। कंपनी ने पिछले सत्र में 3.5 लाख टन पेराई की थी।

त्रिवेणी इंजीनियरिंग एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक ध्रुव एम साहनी ने सोमवार को नई दिल्ली में भारत आर्थिक शिखर सम्मेलन के मौके पर कहा कि हम इस सत्र में जल्दी पेराई शुरू करेंगे। हमें उम्मीद है कि इस सत्र में चार लाख गन्ने की पेराई करेंगे जबकि पिछले सत्र में 3.5 लाख टन गन्ने की पेराई हुई थी।

उन्होंने कहा कि गन्ने की कीमत स्थिर रहने की उम्मीद है क्योंकि देश के पास अगले छह-आठ महीने के लिए पर्याप्त आपूर्ति है हालांकि कुछ मात्रा में आयात हो सकता है। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि भारत अगले साल अप्रैल से सितंबर के बीच 10 से 20 लाख टन चीनी (कच्ची और सफेद) का आयात कर सकती है।

फिलहाल वैश्विक स्तर पर चीनी की कीमत बढ़कर 560 डॉलर प्रति टन हो गई है इसलिए कच्ची चीनी का आयात नहीं होगा क्योंकि इसे रिफाईन कर बहुत मुनाफा नहीं कमाया जा सकता है। कंपनी के खुदरा कारोबार के बारे में पूछने पर साहनी ने कहा कि कंपनी अभी भी अपने विकल्पों का आकलन कर रही है कि भावी रणनीति क्या हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:त्रिवेणी इंजीनियरिंग करेगी 14 प्रतिशत अधिक गन्ना पेराई