DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएड की तीन छात्राओं के अपहरण का प्रयास

परतापुर थानाक्षेत्र में शनिवार देर शाम एक लोडर चालक ने अपने साथी के साथ मिलकर बीएड की तीन छात्रओं के अपहरण का प्रयास किया। लोडर चालक ने इन छात्रओं को लिफ्ट देने के बहाने गाड़ी में बैठाया था। जब चालक ने नियत स्थान पर गाड़ी नहीं रोकी तो लड़कियां डर कर चलते लोडर से कूद गईं। कूदते समय एक छात्र गंभीर रूप से घायल हो गई। उसे बागपत रोड पर केएमसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने लोडर चालक को गिरफ्तार कर लिया है।

उन्नाव जिले के शुक्लागंज निवासी फतेहपुर में तैनात जीआरपी में दरोगा सुखराम चौधरी की बेटी अर्चना चौधरी, यहीं के रहने वाले क्राइस्ट चर्च इंटर कॉलेज में प्रवक्ता आरडी विश्वकर्मा की बेटी स्नेहा विश्वकर्मा और जौनपुर निवासी विजय मौर्या की बेटी खुशबू गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ प्रोफेशनल एंड टेक्निकल फॉर गल्र्स कॉलेज से बीएड कर रही हैं। परतापुर थानाक्षेत्र में पड़ने वाले जैनपुर गांव में नरेंद्र सिंह के घर में किराए का मकान लेकर रहती हैं।

शनिवार को तीनों लड़कियां कॉलेज गई थीं। कॉलेज में पता चला कि उनके प्रमाणपत्र अभी जमा नहीं हुए हैं। उन्होंने परिजनों से दिल्ली रोड स्थित एक पीसीओ पर लगे फैक्स पर प्रमाण पत्रों की छाया प्रतियां मंगाईं। रात करीब साढ़े सात बजे वह घर के लिए निकलीं। सवारी न मिलने पर तीनों छात्रएं पैदल ही चल पड़ीं। दिल्ली रोड स्थित संजय वन तिराहे पर उन्हें एक लोडर खड़ा मिला।

छात्राओं ने उससे बातचीत की तो लोडर चालक ने उन्हें लिफ्ट देने की पेशकश की। इसके बाद छात्रएं उसमें बैठ गईं। जैनपुर करीब आया तो छात्रओं ने गाड़ी रोकने के लिए पीछे से चिल्लाना शुरू किया, लेकिन चालक ने गाड़ी रोकने के बजाय रफ्तार बढ़ा दी। छात्रओं को जब कुछ समझ में नहीं आया तो जूरानपुर फाटक के पास एक-एक कर वह गाड़ी से कूद गईं। दो तो बच गईं, लेकिन सबसे आखिर में अर्चना कूदी। कूदने के प्रयास में वह गिर पड़ी जिससे उसका जबड़ा टूट गया।

इसके बाद खुशबू व स्नेहा ने अपने मकान मालिक के बेटे अंकित को फोन करके सारी बात बताई। अंकित ने तत्काल पुलिस को घटना की सूचना दी। पुलिस ने भाग रहे लोडर को कुछ दूरी पर जाकर रोक लिया। पुलिस को देखकर गाड़ी में बैठा एक युवक फरार हो गया, जबकि चालक पकड़ में आ गया।

पुलिस के अनुसार पकड़ा गया लोडर चालक गाजियाबाद के गांव अर्सला का रहने वाला है। पुलिस ने लोडर यूपी 16 टी 4497 को भी अपने कब्जे में ले लिया है। रविवार तीनों छात्रओं के परिजन सूचना पर मेरठ पहुंचे। अर्चना के पिता सुखराम चौधरी की तरफ से परतापुर थाने में तहरीर दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीएड की तीन छात्राओं के अपहरण का प्रयास