DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ढाका स्थित भारतीय उच्चायोग भी था लश्कर ने निशाने पर

ढाका स्थित भारतीय उच्चायोग भी था लश्कर ने निशाने पर

बांग्लादेश स्थित भारतीय उच्चायोग के साथ-साथ अमेरिका और ब्रिटेन के दूतावास पाकिस्तान से संचालित होने वाले आतंकवादी संगठन लश्कर ए तैयबा के निशाने पर थे।
   
पुलिस ने रविवार को कहा कि लश्कर ए तैयबा के दो आतंकवादियों और हूजी के एक अन्य आतंकवादी को इस सप्ताह चटगांव से गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद दावा किया गया था कि पुलिस ने अमेरिकी दूतावास पर हमले की साजिश को नाकाम कर दिया है।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि हिरासत में लिये गये तीन (संदिग्ध) आतंकवादियों से पूछताछ से मिली जानकारी से जाहिर होता है कि उन्होंने दो अन्य दूतावासों के अलावा भारतीय उच्चायोग पर भी हमले की साजिश रची थी।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि लश्कर ए तैयबा के स्थानीय आतंकवादियों और हरकत उल जिहाद के बांग्लादेशी साथी को पाकिस्तान से संचालित होने वाले लश्कर के शीर्ष कमान से टेलीफोन पर निर्देश हासिल हुए और उन्होंने हमलों की साजिश रचने के लिए बारीधारा के राजनयिक एन्क्लेव का दौरा किया।
   
खुफिया विभाग के उपायुक्त मुनिरूल इस्लाम ने हालांकि कहा कि तीन संदिग्धों से हिरासत में अब भी पूछताछ की जा रही है और मैं इस समय पूछताछ के नतीजों के बारे में फिलहाल कोई ठोस टिप्पणी नहीं करूंगा। उन्होंने कहा कि इस साजिश के सिलसिले में विदेशियों सहित अनेक संदिग्धों पर नजर रखी जा रही है।

खुफिया विभाग ने शुक्रवार को इन तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया था। प्रारंभिक रिपोर्टों में कहा गया था कि आतंकवादियों का निशाना सिर्फ अमेरिकी दूतावास था। लश्कर के इन दो गिरफ्तार आतंकवादियों की पहचान शहीदुल इस्लाम और अल अमीन उर्फ सैफुल के तौर पर की गयी है जबकि हूजी आतंकवादी का नाम मुफ्ती हारून इजहार है।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ढाका स्थित भारतीय उच्चायोग भी था लश्कर ने निशाने पर