DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हत्या के बाद बच्चों के साथ थाने पहुंचा पति

कच्च तालाब, शिवनगर (शाहगंज) में रविवार की अलसुबह गुस्से में हैवान बने युवक ने सिल से ताबड़तोड़ प्रहार करके पत्नी और सास को मार डाला। दोहरे हत्याकांड के बाद भागने के बजाय हत्यारोपी अपने दो मासूम बच्चों को लेकर थाने पहुँच गया। पुलिस को बताया कि पत्नी के चाल-चलन और रोज रोज की चिकचिक से वह तंग आ चुका था। वह पत्नी को नहीं मारता तो वो उसे मरवा देती। सास ने पत्नी को बिगाड़ा था, इसलिए उसे भी सबक सिखाना जरूरी था। उसे अपने किए पर कोई पछतावा नहीं है। उसकी पत्नी सेक्स रैकेट चलाती थी।

एसपी सिटी उदय प्रताप ने बताया कि इरशाद मोहम्मद सैफी पुत्र नूर मोहम्मद के खिलाफ हत्या का मुकदमा लिखा गया है। इरशाद शाहगंज स्थित यूनिक ट्रैवेल्स में चालक है। सात सात पहले उसका निकाह जमालपुर, अलीगढ़ निवासी सायरा (27) से हुआ था। सास करीब एक साल से उनके साथ रह रही थी। छह वर्षीय बेटे साहिल और चार वर्षीय बेटी खुशी वारदात के समय कमरे में सो रहे थे। इरशाद ने पहले सास और फिर पत्नी के सिर पर सिल से ताबड़तोड़ प्रहार किए थे।

इरशाद ने बताया कि पत्नी और सास ने उसका जीना हराम कर दिया था। वर्ष 2006 से वह घुट-घुटकर जी रहा था। उसे पता चल गया था कि उसकी पत्नी पैसे कमाने के लिए सेक्स रैकेट चलाती है। उसने उसे बहुत समझाया मगर वह कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थी। शनिवार की शाम उसने पत्नी को कार में जाते रंगे हाथ पकड़ लिया। उसने पीछा करके कार को रोक लिया।

पत्नी ने उसे धक्का दे दिया। देर शाम घर लौटी। दोनों में काफी देर तक लड़ाई हुई। पत्नी ने खाना तक नहीं बनाया। सास ने भी पत्नी का पक्ष लिया। कहा कि बेटी को जो अच्छा लगेगा करेगी। वह खामोश रहा। उसे लगा कि ज्यादा बोलने पर पति और सास उसे मरवा सकते हैं। यह बात उसके दिमाग में बैठ गई। सुबह चार बजे उसकी नींद खुली। बिना कुछ सोचे उसने सास और पत्नी को मार डाला। मौके पर ही दोनों ने छटपटाते हुए दम तोड़ दिया। उसने इतने प्रहार कि दोनों में से किसी की दूसरी चीख तक नहीं निकली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हत्या के बाद बच्चों के साथ थाने पहुंचा पति