DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

733 अल्पसंख्यक मेधावी छात्र सम्मानित

देश में मुसलमानों की तरक्की शिक्षा के जरिए ही सम्भव है। यह एक तरक्की पसंद कौम है लेकिन दुर्भाग्यवश इस समय पिछड़ेपन का शिकार है। यह बात राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष एसएमए काजमी ने प्रदेश के अल्पसंख्यक वर्ग के मेधावी छात्र-छात्रओं के सम्मान समारोह में कही। शिक्षा के प्रति जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से ह्यूमन वेलफेयर फाउंडेशन व पीएम फाउंडेशन की ओर से इस सम्मान समारोह का आयोजन किया गया था।

फाउंडेशन के विजन 2016 प्रोग्राम के तहत आयोजित समारोह में प्रदेश के करीब 46 जिलों से आए 733 छात्रों को एक हजार रुपए की नगद और प्रशस्ति पत्र देकर उनकी प्रतिभा को सराहा गया। यह सभी यूपी, सीबीएसई, आईसीएसई और मदरसा बोर्ड से इस वर्ष 60 प्रतिशत से अधिक अंक लेकर हाईस्कूल की परीक्षा उतीर्ण करने वाले छात्र थे। समारोह में फाउंडेशन के उपाध्यक्ष मोहम्मद जाफर, राज्य सूचना आयुक्त वीरेन्द्र कुमार सक्सेना, जमाअत इस्लामी के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष मोहम्मद अहमद व पूर्वी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष मौलाना वलीउल्ला सईदी ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

पुरस्कार वितरण के बाद टैलेंट सर्च प्रतियोगिता का आयोजन भी हुआ।  अशोक मार्ग स्थित हरी लॉन में आयोजित समारोह में काजमी ने कहा कि विकास के  सारे दरवाजे खुले हैं। हमें बस उसे हासिल करने की कोशिश करनी होगी। केरल की पीएम फाउंडेशन के अध्यक्ष न्यायाधीश केए अब्दुल गफूर ने कहा कि मायूसी के अंधेरे से बाहर निकलिए, मुसलमानों पर जो पिछड़ेपन का दाग लगा है उसे हमें धोना है।

नायब इमाम ईदगाह मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली साहब ने कहा कि अशिक्षा से समस्याएँ पैदा होती हैं और यह समाज को नुकसान पहुंचाती हैं। फाउंडेशन के महासचिव प्रोफेसर केए सिद्दीक ने कहा कि मुसलमानों ने सभी क्षेत्रों में देश की तरक्की में अहम भूमिका निभाई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:733 अल्पसंख्यक मेधावी छात्र सम्मानित