DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अपन सैन्य प्रवक्ता को मार चुका है लिट्टे!

श्रीलंका का तमिल विद्रोही संगठन लिबरशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम(लिट्ट) इस वर्ष के आरंभ में तकलीफों से घिरने के बाद ही संभवत: अपने सैन्य प्रवक्ता पर ‘गद्दारी’ का आरोप मढ़ते हुए उसे मौत के घाट चुका है। तमिल सूत्रों के अनुसार महीनभर स एसी अटकलं लगाई जा रही हैं कि इरासिहा इलनथिरायन उर्फ मार्शल को मारा जा चुका है। संभवत: जनवरी मं ही एसा किया गया। लिट्ट की ओर स इलनथिरायन क बार मं कोई भी टिप्पणी नहीं की गई है। लिट्ट समर्थक मीडिया मं भी कुछ महीनों स उसका कोई जिक्र नहीं है। इलनथिरायन वर्ष 2008 क अंत मं श्रीलंका क उत्तरी हिस्स मं मौजूद था, जब सरकार न लिट्ट क खिलाफ जबरदस्त अभियान छड़ा था। अभियान के कारण लिट्ट को उन स्थानों स हटना पड़ा, जहां वर्षो स उसका कब्जा था। तमिल कार्यकर्ताओं न श्रीलंका स फोन पर बताया कि इलनथिरायन पर श्रीलंकाई खुफिया विभाग क साथ संबंध रखन और लिट्ट क खिलाफ साजिश रचन का आरोप था। लिट्ट की खुफिया इकाई न संभवत: उस मार गिराया। बहद गोपनीय ढंग स गतिविधियां चलान वाल लिट्ट मं इलनथिरायन अगस्त 2006 स मीडिया क लिए महत्वपूर्ण स्रेत था। इलनथिरायन न श्रीलंकाई और विदशी पत्रकारों क साथ संपर्क बनाए थे। वह लिट्ट समर्थक तमिल नशनल एलायंस क सांसदों क भी संपर्क मं था। इनमं स किसी भी सांसद स कुछ महीनों स उसन संपर्क नहीं साधा है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अपन सैन्य प्रवक्ता को मार चुका है लिट्टे!