DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मान गए अनशनकारी छात्र


हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विवि में कैंपस आरक्षण सहित एनएसएस एवं एनसीसी का लाभ दिये जाने की मांग को लेकर चल रहा छात्रों का आंदोलन शनिवार देर सांय विवि के कुलपति से हुई वार्ता के बाद स्थगित हो गया। इसके साथ ही विगत कई दिनों से चल रहा छात्र नेताओं का आमरण अनशन भी समाप्त हो गया। देर सांय तक चली वार्ता के बाद नेता प्रतिपक्ष डाक्हरक सिंह रावत ने जूस पिलाकर छात्रों का अनशन समाप्त करवाया।

हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विवि में आरक्षण की मांग को लेकर चल रहा गतिरोध फिलहाल समाप्त हो गया है। लगभग एक सप्ताह से अधिक समय तक चले आंदोलन के बाद शनिवार को विवि के कुलपति की अध्यक्षता में छात्र नेताओं एवं शिक्षकों की प्रशासनिक भवन में एक बैठक हुई जिसमें विवि के कुलपति प्रो एसके सिंह ने बताया कि छात्रों के आंदोलन को देखते हुए एचआरडी को एक पत्र प्रेषित किया गया है जिसमें एचआरडी से विवि के छात्रों को एनएसएस, एनसीसी एवं कैंपस आरक्षण दिये जाने की मांग की गई है।

विवि के कुलपति प्रो एसके सिंह ने बताया कि इस संदर्भ में एक पत्र एचआरडी को पूर्व में भी प्रषित किया जा चुका है और यदि एचआरडी से इस सिलसिले में सकारात्मक जबाब मिला तो विवि में अगले सत्र से छात्रों को एनएसएस, एनसीसी और कैंपस आरक्षण का लाभ दिया जायेगा।

इधर देर सांय तक चली वार्ता के दौरान छात्रों एवं शिक्षकों के बीच कई दौर की वार्ता हुई और आखिरकार कुलपति द्वारा पत्र प्रेषित किये जाने और छात्रों की मांगों को जायज बताये जाने के बाद ही गतिरोध समाप्त हो पाया। इस अवसर पर छात्र नेताओं ने पत्रकारों को बताया कि विवि के कुलपति द्वारा एचआरडी को भेजे गये पत्र का जबाब यदि दो माह के भीतर नही आता और विवि में कैंपस आरक्षण सहित अन्य मांगों पर सकारात्मक जबाब नही मिलता तो विवि के छात्र पुन उग्र आंदोलन करेगें।

इधर विवि के छात्रों और कुलपति के बीच देर सांय तक चली वार्ता के सफल होने के बाद विगत पांच दिनों से चल रहा छात्र संघ प्रतिनिधि अंकित रौंथाण एवं कार्यकारणी सदस्य मनजीत रावत का आमरण अनशन भी समाप्त हो गया। आमरण अनशन पर बैठे छात्र नेताओं को नेता प्रतिपक्ष हरक सिंह रावत ने जूस पिलाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मान गए अनशनकारी छात्र