DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिस्कोमान को पुनर्जीवित करने के प्रयास शुरूः अशोक

बिहार की सहकारी विपणन संस्था बिहार स्टेट कॉपरेटिव मार्केटिंग यूनियन (बिस्कोमान) को फिर से पुनर्जीवित करने के लिए कई प्रभावकारी कदम उठाए जा रहे हैं।

बिस्कोमान के प्रबंधन निदेशक अशोक कुमार झा ने बताया कि संस्था के बंद पडे़ कृषि आधारित उद्योगों को पुनः चालू करने और जीर्ण-शीर्ण पडे़ गोदामों की मरम्मत की योजना तैयार की गई है। झा ने बताया कि बिस्कोमान के पास 2 लाख 42 हजार मीट्रिक टन भंडारण क्षमता के गोदाम उपलब्ध हैं, लेकिन रख-रखाव के अभाव में सभी बंद पडे़ हैं। प्राथमिकता के आधार पर कई गोदामों की मरम्मत कर उन्हें चालू करने के उपाय किए जा रहे हैं। इस पर 4 करोड़ रुपए व्यय किए जाएंगे। इसके अतिरिक्त केन्द्र के सहयोग से 70 करोड़ रुपए की लागत से एक लाख मीट्रिक टन भंडारण क्षमता के नए गोदामों का निर्माण शीघ्र कराया जाएगा, जिससे अन्न और उर्वरक भंडारण समेत सहकारी क्षेत्र में इनका क्रय-विक्रय पुनः शुरू हो सके।

बिस्कोमान के विक्रमगंज स्थित 20 मीट्रिक टन प्रतिदिन उत्पादन क्षमता वाले बंद पडे़ चावल मिल को शीघ्र चालू किया जाएगा, जबकि पूर्णियां स्थित चावल मिल का आधुनिकीकरण किया जाएगा। इसके अतिरिक्त कम्फेड के सहयोग से बिस्कोमान की बंद पड़ी चार अन्य पशु-आहार फैक्ट्रियों को भी शीघ्र चालू किया जाएगा। झा ने कहा कि बिस्कोमान के अनुपयोगी संपत्तियों को बेच कर कर्मचारियों की बकाया राशि का भुगतान किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिस्कोमान को पुनर्जीवित करने के प्रयास शुरूः अशोक