DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोयला चोरी की जांच को सीबीआई टीम अनपरा में

कोयला चोरी जांच के लिए सीबीआई की टीम शनिवार को फिर यहां आ धमकी और इससे जुड़े पुराने मामलों को भी खंगाला। आर्थिक अपराध अनुसंधान विभाग की पिछले दिनों जमा की गयी चाजर्शीट के आधार पर भी सीबीआई टीम संबंधित लोगों से पूछताछ कर रही है।

इसबीच सीबीआई के डीआईजी ने सोनभद्र के जिलाधिकारी को औड़ी मोड़ के दुल्लापाथर स्थित कोल डिपो को ध्वस्त कराने को लिखा है जहां से गत जुलाई में छापे के दौरान भारी मात्र में चोरी का अवैध कोयला बरामद हुआ था। जांच अधिकारी राजीव सिंह ने फिलहाल किसी नयी गिरफ्तारी से इनकार करते हुए कहा कि कोयला चोरी की जांच अंजाम की ओर बढ़ रही है।

सीबीआई अधिकारियों की टीम शनिवार को अनपरा, शक्तिनगर व सिंगरौली पहुंची तथा कोयला चोरी प्रकरण से जुड़े अनेक लोगों से गहन पूछताछ की। सूत्रों के मुताबिक वर्ष 2006 में आर्थिक अपराध अनुसंधान विभाग द्वारा अनपरा थाने में दर्ज करायी गयी प्राथमिकी की फाइनल चाजर्शीट जमा करने के बाद सीबीआई ने उससे जुड़े तथ्यों को भी अपनी जांच में शामिल कर लिया है।

जांच के संबंध में सीबीआई के अधिकारियों ने हालांकि कुछ भी बताने से मना कर दिया, मगर सूत्रों का ाहना है कि कोयला तौल से संबंधित एक-दो लोगों के अतिरिक्त एनसीएल व रेलवे के भी कुछ अधिकारियों-कर्मचारियों से पूछताछ की जा रही है। टीम ऐसे दस्तावेज जुटा रही है जिनसे यह पता चल सके कि कोयला माफियाओं द्वारा चोरी का कोयला किन-किन स्थानों पर भेजा जाता रहा है।

सीबीआई ने गत 24-25 जुलाई को पकड़े गये कोयला माफियाओं के दुल्लापाथर स्थित कोल डिपो को अवैध ठहराते हुए उसे तत्काल ध्वस्त कराने के लिए भी जिलाधिकारी को लिखा है। तीन महीने बाद क्षेत्र में एक बार फिर सीबीआई की सक्रियता से कोयले के धंधे  से जुड़े लोगों में हड़कम्प व्याप्त है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोयला चोरी की जांच को सीबीआई टीम अनपरा में