DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुखबिरी के शक में माओवादियों ने की तीन की हत्या

मुखबिरी के शक में माओवादियों ने की तीन की हत्या

माओवादियों ने शनिवार को पुलिस मुखबिर होने के संदेह में तीन युवकों की हत्या कर दी और माकपा के एक नेता को गोली मारकर घायल कर दिया। पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य ने स्थिति का जायजा लेने के लिए शनिवार से जिले का दौरा शुरू किया।

पुलिस ने कहा कि यहां से करीब 70 किलोमीटर दूर कुसबनी जंगल की सड़क पर तीन युवकों लखी दास, जयराम मंडी और मनोरंजन की लाश मिली। उनके हाथ एवं पांव बंधे हुए थे। माओवादियों ने वहां पोस्टर भी छोड़ रखा था जिसमें दावा किया गया है कि तीनों पुलिस के मुखबिर एवं माकपा के एजेंट थे, इसलिए उन्हें सजा दी गई।

कोलकाता में गृह सचिव अद्र्धेंदु सेन ने कहा कि मारे गए तीनों लोग झारखंड पार्टी के कार्यकर्ता थे। मुख्यमंत्री जब पश्चिमी मिदनापुर जिले में कानून-व्यवस्था एवं विकास कार्यक्रमों की समीक्षा करने गए, उसके तुरंत बाद स्थानीय माकपा नेता सुभाष सोरेन को यहां से करीब 75 किलोमीटर दूर नंदासोल में गोली मार दी गई। पुलिस ने कहा कि सोरेन माकपा के गोपीवल्लभपुर जिला समिति के सदस्य थे। संदिग्ध माओवादियों ने शाम साढ़े पांच बजे उन्हें गोली मार दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुखबिरी के शक में माओवादियों ने की तीन की हत्या