DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकः 26/11 के संदिग्धों का मुकदमा एक हफ्ते को टला

पाकः 26/11 के संदिग्धों का मुकदमा एक हफ्ते को टला

पाकिस्तान की एक आतंक निरोधी अदालत ने मुंबई हमले में शामिल सात संदिग्धों के खिलाफ चल रहे मुकदमे की सुनवाई शनिवार को एक हफ्ते के लिए टाल दी। सुनवाई दो अभियुक्तों का आवेदन स्वीकार करने के बाद स्थगित की गई। इन सात संदिग्धों में लश्कर-ए-तय्यबा का आपरेशन कमांडर जकीउर रहमान लखवी भी शामिल है।

बचाव पक्ष के वकीलों में से एक शाहबाज राजपूत ने बताया कि न्यायाधीश मलिक मोहम्मद अकरम अवां ने शनिवार की सुनवाई के बाद मामले की सुनवाई 14 नवंबर तक स्थगित कर दी।

अन्य सूत्रों ने बताया कि अदालत ने आवेदन स्वीकार कर लिए हैं। इसमें अभियुक्तों ने अपने खिलाफ दाखिल आरोप पत्र का विस्तृत विवरण मांगा है। साथ ही उन्होंने भारतीय अधिकारियों के समक्ष मुंबई हमले में शामिल एकमात्र जीवित आतंकवादी मोहम्मद अजमल आमिर कसाब द्वारा दिए गए बयान की सत्यापित प्रति भी मांगी है।

सूत्रों ने कहा कि न्यायायीश अगली सुनवाई में आरोपियों को अभ्यारोपित करने की प्रक्रिया पूरी कर लेंगे। ऐसे भी संकेत हैं कि बचाव पक्ष के वकील हमले में कसाब की भूमिका पर ध्यान केंद्रित करेंगे और संभवत: उसे पाकिस्तान लाए जाने का अनुरोध करेंगे ताकि आतंक निरोधी अदालत में उससे जिरह की जा सके।

कूटनयिक सूत्रों ने बताया कि वे मानते हैं कि इस तरह के कदम से पाकिस्तानी अदालत में मुकदमे में देरी हो सकती है। आतंकवाद निरोधी अदालत ने वकीलों और मुकदमे से जुड़े लोगों को सलाह दी है कि मीडिया और पत्रकारों से इसके बारे में विस्तार से चर्चा नहीं करें। सुरक्षा कारणों से रावलपिंडी के अदियाला जेल के भीतर मुकदमे की हो रही सुनवाई को मीडिया के कवर करने पर रोक लगा दी गई है।

अभियुक्त ने हाल में ही जिस तरीके से उन्हें 10 अक्टूबर को न्यायाधीश बाकिर अली राणा ने अभ्यारोपित किया था उस पर आपत्ति जताई थी। गौरतलब है कि राणा अब इस मुकदमे की सुनवाई से हट गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाकः 26/11 के संदिग्धों का मुकदमा एक हफ्ते को टला