DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जनशताब्दी की चपेट में आकर सुपरवाइजर सहित पांच गैंगमैन कटे

मंगल के बाद शनि भी गैंगमैनों पर भारी रहा। शनिवार सुबह लगभग 11:05 बजे देहरादून से दिल्ली आ रही जनशताब्दी एक्सप्रेस की चपेट में आकर सुपरवाइजर(पीडब्ल्यूआई)रमेश चंद समेत पांच गैंगमैन की मौत हो गई। वसुंधरा के हिंडन पुल पर घटना का शिकार हुए गैंगमैनों का शव ट्रैक पर काफी दूर तक बिखर गया। जिस वक्त हादसा हुआ सुपरवाइजर व गैंगमैन रेलवे ट्रैक की रूटीन जांच में जुटे थे। साथी गैंगमैन की हादसे में हुई मौत से क्रोधित अन्य कर्मियों ने कुछ देर तक रेल मार्ग अवरुद्ध कर दिया। जिन्हें समझा-बुझाकर पुन:रेल सेवा शुरू कराई गई। हादसे के बाद लगभग डेढ़ घंटे तक रेल यातायात बाधित रहा। इस दरम्यान लंबी दूरी की करीब आधा दजर्न टेनों के अलावा कई ईएमयू ट्रेन भी प्रभावित हुई। सूचना मिलते ही रेलवे के डीआरएम के अलावा डीएम व एसएसपी सहित कई रेल अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। डीआरएम मामले की विभागीय जांच में जुटे हैं।


आशंका जताई जा रही है कि अधिक धुंध होने के कारण यह हादसा हुआ। हालांकि डीआरएम बीडी गर्ग ने हादसे के कारणों के बारे में जांच के बाद ही कुछ भी कहने की बात कही। उन्होंने कहा कि ड्राइवर की अल्कोहोलिक जांच के अलावा यह भी पूछताछ की जा रही है कि ट्रैक पर कर्मियों को देखकर कोई हार्न दिया गया था या नहीं? मृतकों के परिजनों को तत्काल बीस-बीस हजार रुपये की सहायता प्रदान की जा रही है। साथ ही दस-दस लाख रुपये मुआवजा भी दिया जाएगा।


उल्लेखनीय है कि मंगलवार को गुड़गांव-फरीदाबाद में ट्रेन हादसे का शिकार होकर छह गैंगमैन को जान से हाथ धोना पड़ा था। बताया जाता है कि हादसे में मरने वाले सुपरवाइजर की यही डय़ूटी थी कि वह ट्रैक पर किसी भी ट्रेन को आता देखकर साथी गैंगमैनों को विसिल बजाकर सूचित कर उन्हें ट्रैक से हटाए। लेकिन वह खुद ही कैसे इस घटना का शिकार हुआ,यह जांच के बाद ही पता चल सकेगा। उसके वाकी टॉकी के बारे में भी पता लगाया जा रहा है। हादसे की जांच के लिए विभागीय जांच शुरू कर दी गई है।


शनिवार सुबह अन्य दिनों की भांति रमेश चंद सुपरवाइजर की देख-रेख में गैंगमैन राम रतन,पूरन,राधेश्याम व अजय सहित अन्य गैंगमैन ट्रैक की रूटीन जांच कर रहे थे। इसी दरम्यान देहरादून से दिल्ली आ रही जनशताब्दी एक्सप्रेस ट्रैक पर आ गई। इससे पहले कि ट्रेन की आने का अहसास सुपरवाइजर रमेश चंद या अन्य गैंगमैन को हो पाता,वे सभी ट्रेन की चपेट में आ गए। हादसे के समय ट्रेन की रफ्तार इतनी अधिक थी कि मारे गए कर्मियों के शव काफी दूर तक बिखर गए। एक गैंगमैन की खोपड़ी की खोजबीन काफी देर तक जारी रही। लेकिन नहीं मिल सकी। उसकी शिनाख्त कपड़ों व अन्य वस्तुओं से की गई।

हादसे में मरने वाले-
1.सेक्शन इंजीनियर व सुपरवाइजर रमेश चंद, निवासी विजयनगर
2.सीनियर गैंगमैन रामरतन, निवासी सुनपुरा मारीपत
3.गैंगमैन पूरन, निवासी बदायूं
4.गैंगमैन राधेश्याम, निवासी राजस्थान
5.गैंगमैन अजय, निवासी विजयनगर

 प्रभावित ट्रेन
बापूधाम गरीब रथ
स्वतंत्रता सेनानी सुपरफास्ट
संपर्क क्रांति सुपरफास्ट
जालंधर एक्सप्रेस
गोमती एक्सप्रेस
दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ-मुरादाबाद के बीच चलने वाली ईएमयू ट्रेनें
कई मालगाड़ी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जनशताब्दी की चपेट में आकर सुपरवाइजर सहित पांच गैंगमैन कटे