DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कार्बन उत्सर्जन कटौती की मात्रा तय नहीं: मनमोहन

कार्बन उत्सर्जन कटौती की मात्रा तय नहीं: मनमोहन

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शुक्रवार को कहा कि भारत ने ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में कटौती की मात्रा का लक्ष्य तय नहीं किया है और इसकी संभावना तलाशी जा रही है।

प्रधानमंत्री की यह टिप्पणी उस समय सामने आई है जब अगले महीने कोपेनहेगेन शिखर सम्मेलन से पहले अमेरिका ने शुक्रवार को कहा कि भारत को जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर मुख्य भूमिका निभानी चाहिए। उसने यह भी इशारा किया कि देश में कार्बन उत्सर्जन में कटौती की जाए।

बहरहाल, 10वें भारत-ईयू शिखर सम्मेलन की समाप्ति पर भारत के कार्बन उत्सर्जन में कटौती के लक्ष्य के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि हम अभी तक उस स्तर पर नहीं पहुंचे हैं। हम इसकी संभावना तलाश रहे हैं। सिंह ने भारत और यूरोपीय संघ को आपस में मिलकर काम करने और वैश्विक तापमान वृद्धि की चुनौतियों से निपटने पर जोर दिया।

बहरहाल, लोकतंत्र और वैश्विक मुद्दों पर अमेरिका की उपमंत्री मारिया ओटेरो ने कहा कि उनका देश मानवाधिकारों, पर्यावरण, स्वास्थ्य एवं आपदा प्रबंधन जैसे वैश्विक मुद्दों पर भारत के साथ वृहद सहयोग चाहता है। वह यहां एक संक्षिप्त दौरे पर आई हैं। ओटेरो ने कहा कि इस महीने के उतरार्ध में वाशिंगटन में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की वार्ता में ये मुद्दे भी शामिल होंगे।

उन्होंने कहा कि भारत में चार फीसदी उत्सर्जन होता है और हमें उम्मीद है कि भविष्य में उत्सर्जन में कुछ कमी होगी। सभी देशों को जिम्मेदारी लेने की जरूरत है क्योंकि जलवायु परिवर्तन का खतरा हम सभी महसूस कर रहे हैं। डेनमार्क की राजधानी में शिखर सम्मेलन से पहले अमेरिका चाहता है कि सभी देश कार्बन उत्सर्जन में कटौती करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कार्बन उत्सर्जन कटौती की मात्रा तय नहीं: मनमोहन