DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य में चुनाव के लिए 18225 वाहनों की जरूरत

राज्य विधानसभा चुनाव संपन्न कराने के लिए 18225 वाहनों की जरूरत होगी। एक विधानसभा क्षेत्र में मतदान केंद्रो पर मतदान कर्मियों को पहुंचाने के लिए औषतन 225 वाहनों का हिसाब रखा गया है। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में मतदान कर्मियों को ले जाने वाले वाहन के आगे खाली डंपर चलेगा।  हर जिले में उपायुक्तों द्वारा वाहन संचालकों के साथ बैठक कर ली गई है। स्कूल प्रबंधन और निजी बस संचालाकों ने स्वेच्छा से चुनाव से दो दिन पहले वाहन उपलब्ध कराने का वादा किया है।

जिला प्रशासन बसों के अधिग्रहण पर बल दे रहा हैं। बसों के बाद यदि जरूरत पड़ेगी तभी ट्रकों की धरपकड़ की जाएगी। रांची के जिला परिवहन पदाधिकारी एके बंका के अनुसार रांची, हटिया और कांके विधानसभा क्षेत्र में मतदान के लिए चुनाव कार्यालय द्वारा 650 वाहनो की मांग की गई है। चुनाव परिवहन कोषांग चलाने के लिए एक जिले में औसतन 45 जीप, मार्शल और टाटा सुमो की मांग थी जिसे पूरा कर लिया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में एक कलस्टर बनाया जाएगा जहां एक वाहन से दो-तीन मतदान केंद्रों के मतदान कर्मी चुनाव की पूर्व संध्या में पहुंचा दिए जाएंगे जहां से वे सुबह पैदल मतदान कें द्रों पर जाएंगे। अगले चरण के मतदान के लिए जिस जिले में वाहन की कमी रहेगी वहां प्रथम चरण वाले जिलों से वाहन उपलब्ध कराया जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राज्य में चुनाव के लिए 18225 वाहनों की जरूरत