DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दोषी पर एफआइआर दर्ज करने की मांग

शहर के शांतिनगर में रहनेवाले और गुमला विद्युत ग्रिड में कांट्रेक्ट पर तैनात ऑपरेटर अतीत एक्का (32) की गुरुवार की रात लोहरदगा रोड पर गोली मारकर हत्या कर दी गयी। मृतक के परिजनों का आरोप है पुलिस ने उसकी हत्या की है। घटना से आक्रोशित सैकड़ों आदिवासी महिला-पुरुष सड़क पर उतर आये और पुलिस पर एफआइआर दर्ज करने की मांग करने लगे। इस दौरान गुमला-रांची और लोहरदगा मार्ग ठप रहा। पुलिस लाठी चार्ज का भी आक्रोशित लोगों पर असर नहीं हुआ।


सूचनानुसार अतीत एक्का को गुरुवार की रात करीब आठ बजे उस समय गोली मारी गयी, जब ड्यूटी के बाद वह बाइक से अपने घर लौट रहा था। परिजनों को अतीत के मारे जाने की सूचना रात्रि 11.30 बजे गुमला पुलिस ने दी। शुक्रवार को अहले सुबह अतीत एक्का को उग्रवादी बता गोली मारने की खबर पूरे शहर में जंगल की आग की तरह फैल गयी। आक्रोशित सैकड़ों आदिवासी युवा और महिलाएं सड़क पर उतर शहीद चौक (टावर चौक) पर मालवाहक ट्रकों को आड़ा- तिरछा खड़ा गुमला-रांची और लोहरदगा मार्ग पर आवागमन सुबह 5.30 बजे ठप करा दिया।


समझाने पहुंचे थानेदार का कॉलर पकड़ महिलाओं ने धक्का-मुक्की की और उनके विरु द्ध हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की। आक्रोश को देखते हुए दोपहर 12 बजे पुलिस लौटकर थाने में दुबक गयी। इस दौरान कई उपद्रवियों ने दुकानदारों पर हमला कर दिया। इससे संदीप अग्रवाल समेत करीब पांच लोग जख्मी हो गए। इसकी प्रतिक्रिया में एक समुदाय विशेष के लोगों ने भी अपने-अपने घरों से तलवार लेकर उपद्रवियों का प्रतिकार किया।
दोपहर बाद पुलिस कुछ हरकत में आई, लेकिन लाठी भांजने के बावजूद आक्रोशित भीड़ सड़क पर डटी रही। हालांकि स्थिति को समान्य बनाने के लिए उपायुक्त राहुल शर्मा और एसपी नरेंद्र कुमार सिंह नगरवासियों के एक शिष्टमंडल के साथ अपने कार्यालय कक्ष में शांति व्यवस्था कायम करने में जुटे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दोषी पर एफआइआर दर्ज करने की मांग