DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उल्फा के दो शीर्ष नेताओं ने आत्मसमर्पण किया

सुरक्षा बलों द्वारा चलाए गए अभियान के कारण बांग्लादेश भागे उल्फा के दो शीर्ष नेताओं ने त्रिपुरा में बीएसएफ के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है और उन्हें जल्द ही असम पुलिस को सौंप दिया जाएगा।

बीएसएफ के वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि उल्फा के स्वयंभू विदेश सचिव सशधर चौधरी और वित्त सचिव चित्रबन हजारिका ने त्रिपुरा में भारत बांग्लादेश सीमा पर गोकुलनगर में बीएसएफ के समक्ष चार नवंबर की रात को आत्मसमर्पण किया। अधिकारी ने बताया कि दोनों कथित तौर पर भारत में घुसने की कोशिश कर रहे थे लेकिन बीएसएफ के जवानों ने उन्हें देख लिया और उन्हें आत्मसमर्पण करने को कहा।

खुफिया एजेंसियों ने कहा कि बांग्लादेशी सुरक्षा एजेंसियों ने इस हफ्ते उल्फा के कुछ ठिकानों पर छापे मारे जिससे इस उग्रवादी संगठन से जुड़े लोग भागने को मजबूर हुए। उल्फा में आंतरिक कलह की वजह से भी बाध्य होकर कुछ उग्रवादियों को भागना पड़ा। पूछताछ के दौरान उल्फा नेताओं ने माना कि उन्हें अपने साथियों से जान को खतरा था जिसकी वजह से वे पड़ोसी देश से भागे।

हालांकि, प्रतिबंधित उल्फा ने बुधवार को दावा किया कि ढाका के पाश इलाके सेक्टर तीन स्थित एक मकान से सादे कपड़े में अज्ञात व्यक्ति चौधरी और हजारिका को उठा ले गए। वहां इनमें से एक अपने परिवार के साथ रहता था। बीएसएफ अधिकारी ने कहा कि दोनों को जल्द ही असम पुलिस को सौंप दिया जाएगा। इन दोनों के खिलाफ कई मामले लंबित हैं।

सूत्रों के मुताबिक बांग्लादेशी सुरक्षा बलों द्वारा उल्फा के अध्यक्ष अरविंद राजखोवा को पकड़ने के लिए तीन ठिकानों पर छापा मारे जाने के घंटों पहले वह भाग निकलने में कामयाब रहा।

सूत्रों ने बताया कि बीएसएफ ने सीमा पर अपने जवानों को चौकस रहने को कहा है क्योंकि बांग्लादेश में कार्रवाई के चलते उल्फा के और अधिक सदस्य भारत में घुसने की कोशिश कर सकते हैं।

इससे पहले शेख हसीना की नई आवामी लीग सरकार ने भारत को आश्वासन दिया था कि बांग्लादेश की धरती से भारतीय अलगाववादियों को उखाड़ फेंकने के लिए हरसंभव मदद और समर्थन उपलब्ध कराया जाएगा।

उल्फा महासचिव अनूप चेतिया 1997 में ढाका में अपनी गिरफ्तारी के समय से ही हिरासत में बंद है। उसकी जेल की सजा 2005 में पूरी हो गई थी लेकिन भारत और बांग्लादेश के बीच प्रत्यर्पण संधि न होने की वजह से उसे भारत नहीं लाया जा सका है। भारत चेतिया को सौंपे जाने के लिए बांग्लादेश से कई बार औपचारिक अपील कर चुका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उल्फा के दो शीर्ष नेताओं ने आत्मसमर्पण किया