DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंत तक कायम रही क्रिकेट की दीवानगी

क्रिकेट में भगवान का दर्जा रखने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के दीवाने और इस खेल के जुनून में सदैव सराबोर रहने वाले वरिष्ठ पत्रकार प्रभाष जोशी नहीं रहे। इसे संयोग ही कहा जाएगा कि चौके को चव्वा कहने वाले जोशी कल रात भारत और आस्ट्रेलिया के बीच हैदराबाद में खेले जा रहे पांचवें वनडे को देखते हुए दुनिया से विदा हो गए।

सांसों को रोक देने वाले इस रोमांचक मैच में 175 रन की मैराथन पारी खेलकर वनडे क्रिकेट में 17000 रन का आंकडा़ छूने वाले सचिन का आउट होना भारत के साथ-साथ क्रिकेट के मुरीद जोशी को भी भारी पड़ गया। सचिन के आउट होते ही भारत की जीत की उम्मीदें धूमिल हो गई और हाथ आई जीत उसके हाथ से फिसल गई।

परिजनों के मुताबिक जोशी ने दिल का दौरा पड़ने पर भी अपने पुत्र से स्कोर पूछा और यह पता चलने पर कि सचिन आउट हो गए हैं उनकी तबियत बिगड़ने लगी। गाजियाबाद की वसुंधरा कालोनी स्थित जनसत्ता कालोनी में रहने वाले जोशी के पडोसी डाक्टर ने उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाने की सलाह दी जहां से इस क्रिकेटप्रेमी का शव ही लौटकर आया।

जोशी को नरेन्द्र मोहन अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां रात 11 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। क्रिकेट उनके रग रग में बसा हुआ था और वह इस खेल के बारे में नियमित रूप से लिखते थे। वह टीवी उद्घोषक भी रहे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अंत तक कायम रही क्रिकेट की दीवानगी