DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऐतिहासिक इमारतों की सूची तैयार करेगा चंडीगढ़

चंडीगढ़ शहर अपनी ऐतिहासिक इमारतों की एक सूची तैयार करने जा रहा है। यद्यपि यह शहर करीब 60 वर्ष पुराना ही है तब भी इसकी इमारतों का संरक्षण हो सके इसलिए यह सूची तैयार की जा रही है।

अधिकारियों द्वारा गुरुवार को दी गई जानकारी के मुताबिक यहां की महत्वपूर्ण इमारतों में कैपिटॉल कॉम्प्लेक्स, शासकीय संग्रहालय एवं कला संस्थान, आर्किटेक्चर कॉलेज, आर्ट कॉलेज और शासकीय प्रेस शामिल हैं। इन इमारतों का अब भी पहले की तरह उन्हीं वास्तविक कामों के लिए उपयोग हो रहा है।

चण्डीगढ़ के वित्त एवं योजना सचिव संजय कुमार कहते हैं, ‘‘एक महीने के अंदर एक कार्यसूची तैयार की जाएगी। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण और सांस्कृतिक मामलों के मंत्रालय की सिफारिशों के लिए इन दोनों से इस कार्यसूची पर विचार-विमर्श किया जाएगा।’’

उन्होंने कहा कि शहर की ऐतिहासिक इमारतों की सूची बनने से प्रशासन को इन इमारतों पर ध्यान केंद्रित करने और उन्हें बचाए रखने के लिए आवश्यक कदम उठाने में मदद मिलेगी।

यहां की ज्यादातर इमारतों का डिजाइन चंडीगढ़ के योजनाकार ली कॉरबुसीयर ने तैयार किया था। इन सभी इमारतों का निर्माण 1950 से 1965 के बीच हुआ है।

15 अगस्त 1947 को भारत को आजादी मिलने के बाद 1950 के दशक की शुरुआत में नए, स्वतंत्र उभरते भारत के प्रतीक के रुप में चंडीगढ़ की स्थापना की गई थी।

इस शहर को 500,000 लोगों के रहने की योजना के साथ बनाया गया था। अब इस शहर की आबादी 11 लाख है। केंद्र शासित संघ राज्य क्षेत्र चंडीगढ़, पंजाब और हरियाणा की संयुक्त राजधानी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऐतिहासिक इमारतों की सूची तैयार करेगा चंडीगढ़