DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तरंग में डूबे गनेशियन, रिहर्सल शुरू

मेडिकल कालेज परिसर इन दिनों उत्सव सा माहौल है।  सुर-लय-ताल पर घुँघरुओं की छमछम। कहीं रॉक पर तो कहीं शास्त्रीय नृत्य संगीत पर रियाज खर्च करते छात्र-छात्रएँ। हर कोई तरंग 2009 के उल्लास में डूबा है। 9 नवंबर से शुरू होने वाला तरंग चार दिन चलेगा। इसके लिए सांस्कृतिक तैयारियाँ जोरों पर चल रही हैं। मंच पर जलवा बिखेरने को बेताब जूनियर डॉक्टरों व एमबीबीएस छात्र-छात्रओं की टीमें दिन रात मेहनत में जुटी हैं।

प्राचार्य डॉ.आनंद स्वरूप ने गुरुवार को पत्रकार वार्ता के दौरान तरंग-2009 के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम 12 नवंबर तक चलेगा। इसमें जूनियर डॉक्टर व छात्र-छात्रएँ अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। मेडिकल कालेज के 1200 स्नातक, 300 परास्नातक छात्र-छात्रएँ व 150 शिक्षक तरंग में शिरकत करेंगे। कार्यक्रम में आईएमए, शहर के अन्य मेडिकल व डेंटल कालेजों के डॉक्टरों व छात्रों को भी आमंत्रित किया गया है।

चार दिवसीय कार्यक्रम के दौरान चिकित्सा प्रदर्शनी भी लगाई जाएँगी, जिसमें मेडिकल कालेज व हैलट में उपलब्ध स्वास्थ्य व चिकित्सा सेवाओं-सुविधाओं की जानकारी दी जाएगी। कार्यक्रम में आए लोगों को विभिन्न रोगों के लक्षण, कारण व बचावों के तरीकों से अवगत कराया जाएगा। कार्यक्रम के चीफ इंचार्ज डॉ.सुशील चन्द्रा ने कहा कि तरंग में फैशन, लॉफ्टर व रॉक शो, डीजे नाईट, म्यूजिकल बैंड के साथ नृत्य-गायन-संगीत समेत अन्य प्रतियोगिताएँ होंगी।

आखिर में मिस्टर व मिस तरंग का चयन होगा। विजेताओं को पुरस्कार भी दिए जाएँगे। वार्ता में प्रॉक्टर डॉ.जीसी उपाध्याय, डॉ.एसके सचान, डॉ.सुरेश सिंह, डॉ.प्रमोद कुमार, डॉ.जलज सक्सेना, डॉ.मारतोलिया, डॉ.अजेश, डॉ.आरके सिंह, डॉ.आएएन कुशवाहा, डॉ.अजय भारती समेत पैरा ए टू के सभी कोआर्डिनेटर छात्र-छात्रएँ मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तरंग में डूबे गनेशियन, रिहर्सल शुरू