DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लीडर रोड की तीन मेडिकल एजेंसियों पर छापा

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गुरुवार को लीडर रोड स्थित तीन मेडिकल एजेंसियों पर छापा मारा और कुछ दवाओं के नमूने लिए। नकली दवा बेचने की शिकायत पर स्वास्थ्य विभाग और पुलिस की संयुक्त टीम पहले स्टैंडर्ड मेडिकल एजेंसी पहुँची। एजेंसी के साथ इसके गोदाम की भी जाँच की गई। वहाँ कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिलने पर संयुक्त टीम ने इसी मार्ग पर दो और एजेंसियों की जाँच कर दवाइयों के नमूने लिए। 

मेरठ स्थित जैक्सन फार्मा की नकली दवाइयाँ बेचने की शिकायत पर ड्रग इंस्पेक्टर मनोज कुमार के नेतृत्व में आईजी रेंज सूर्य कुमार शुक्ला और इंस्पेक्टर मनोज कुमार के नेतृत्व में पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम एक साथ स्टैंडर्ड मेडिकल एजेंसी पहुँची। टीम ने दुकान और गोदाम की जाँच की लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा। ड्रग इंस्पेक्टर मनोज कुमार के अनुसार एजेंसी की रसीदों की जाँच में पता चला कि इस साल जुलाई में मेरठ स्थित उपयरुक्त फैक्ट्री से कुछ दवाइयाँ यहाँ आईं और तत्काल बेच दी गईं।

इसके बाद टीम ने पास में ही राहुल मेडिकल स्टोर और ओम फार्मास्यूटिकल्स की एजेंसी व गोदामों की जाँच कर कम से कम पाँच दवाइयों के नमूने लिए। नमूने के तौर पर ली गई दवाइयाँ गाजियाबाद और बरौनी में निर्मित हैं। जाँच के बाद ड्रग इंस्पेक्टर मनोज कुमार ने बताया कि स्टैंडर्ड मेडिकल के बारे में बाद में फैसला लिया जाएगा लेकिन अन्य दो एजेंसियों से लिए गए नमूने जाँच कराई जाएगी।

ड्रग इंस्पेक्टर के अनुसार नमूने के तौर पर एजेंसियों से ली गई दवाइयाँ एनलजेसिक और एंटीबायोटिक हैं। उन्होंने कहा कि अभी सैंपल के तौर पर ली गई दवाइयों के बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी क्योंकि एजेंसियों में जाँच के समय पेटेंट और मल्टीनेशनल कम्पनी की दवाइयाँ ही मिली हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लीडर रोड की तीन मेडिकल एजेंसियों पर छापा