DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत-ईयू करेंगे परमाणु समझोते पर दस्तखत

भारत और यूरोपीय संघ की शुक्रवार से शुरू हो रही शिखर बैठक में दोनों पक्ष असैन्य परमाणु क्षेत्र में समझोता करेंगे। इस दौरान मुक्त व्यापार समझोते पर बातचीत को राजनीतिक गति दिए जाने की भी संभावना है।

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और स्वीडन के प्रधानमंत्री फ्रेडरिक रेनफील्ड के साथ बातचीत के दौरान जलवायु परिवर्तन और वैश्विक वित्तीय संकट के मुद्दे पर भी प्रमुखता से बातचीत होने की उम्मीद है। स्वीडन फिलहाल 27 देशों के समूह यूरोपीय संघ का अध्यक्ष है।

यूरोपीय आयोग के अध्यक्ष जोस मैनुअल बरासो भी 10वें वार्षिक शिखर बैठक में भाग लेंगे। बैठक में दोनों पक्षों द्वारा आतंकवाद के खिलाफ सहयोग को मजबूत बनाने और व्यापार को वर्ष 2013 तक 200 अरब डालर किए जाने पर भी चर्चा किए जाने की उम्मीद है।

शिखर बैठक में असैन्य परमाणु क्षेत्र में सहयोग को लेकर समक्षौता होगा जिससे संलयन ऊर्जा में शोध को बढ़ावा मिलेगा। शिखर बैठक से पहले वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा ने यूरोपीय संघ के व्यापार आयुक्त कैथरीन एसटोन से यहां मुलाकात की और कहा कि दोनों पक्ष अगले चार साल में व्यापार को दोगुना कर 200 अरब डालर के स्तर तक पहुंचाने पर विचार कर रहे हैं।

मुक्त व्यापार समझोते पर बातचीत के बारे में शर्मा ने स्पष्ट किया कि दोनों पक्षों के बीच मतभेद के कारण समझोते में विलंब होगा। उल्लेखनीय है कि यूरोपीय संघ समझोते में बाल श्रम और पर्यावरण जैसे जटिल मुद्दों को जोड़ने की कोशिश कर रहा है जिसका भारत विरोध कर रहा है। बहरहाल, शिखर बैठक में मुक्त व्यापार समझोते को राजनीतिक गति मिलने की उम्मीद है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत-ईयू करेंगे परमाणु समझोते पर दस्तखत