DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दूरस्थ स्वास्थ्य केंद्रों में नियुक्तियों को हरी झंडी

शासन ने प्रदेश के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में खाली पदों पर आयुर्वेद व होम्योपैथिक डॉक्टर व फार्मेसिस्ट नियुक्त करने को हरी झंडी दे दी है। इसके तहत संविदा पर 138 आयुर्वेद व होम्योपैथ चिकित्सकों के साथ ही पैरा मेडिकल स्टाफ की नियुक्तियां की जाएंगी।

राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के तहत होने वाली इन नियुक्तियों के लिए राज्य सरकार ने केंद्र से एक करोड़ की राशि की मांग की है। शासन के सूत्रों ने बताया कि इस मिशन के तहत राज्य के ग्रामीण क्षेत्र में स्थित 25 प्राथमिक और 7 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों का चयन किया गया है। इसके लिए 106 आयुर्वेद डॉक्टरों की संविदा पर नियुक्ति की जाएगी। साथ ही 32 होम्योपैथिक डॉक्टरों, 32 फार्मेसिस्टों व 32 ही बहुउद्देश्यीय हैल्थ वर्करों की नियुक्तियां की जाएंगी।

राज्य के दूरस्थ इलाकों में स्थित स्वास्थ्य केंद्रों में जहां डॉक्टर, फार्मेसिस्ट और अन्य पैरामेडिकल स्टाफ की कमी है, वहां इस मिशन के तहत उन्हें संविदा पर भरा जाएगा। एलौपैथिक डॉक्टरों के अभाव में सरकार ने आयुर्वेद व होम्योपैथिक डॉक्टरों को संविदा पर उच्च मानदेय पर कार्य करने के लिए प्रेरित किया है। सरकार की कोशिश है कि कम से कम राज्य के दूरस्थ और दुर्गम क्षेत्रों में चिकित्सा की न्यूनतम जरूरत को पूरा किया जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दूरस्थ स्वास्थ्य केंद्रों में नियुक्तियों को हरी झंडी