DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अपने घर का होटल जैसा इस्तेमाल करें

अब आप अपने घर के कुछ कमरों का होटल जैसा इस्तेमाल कर आमदनी का जरिया बना सकते हैं। इस कार्य  में सरकार भी आपकी मदद करेगी। इस संबंध में राज्य सरकार ने गुरुवार को श्यामा प्रसाद मुखर्जी होम-स्टे नामक एक योजना की शुरुआत की है। योजना के तहत सरकार लाभार्थियों को सब्सिडी, ऋण, ट्रेनिंग प्रोग्राम आदि की सहायता देगी। योजना के प्रथम चरम में सरकार ने महिन्द्रा हॉलीडेज के साथ एमओयू किया है।

पर्यटन मंत्री मदन कौशिक ने सचिवालय में आयोजित कार्यक्रम में श्यामा प्रसाद मुखर्जी होम-स्टे योजना की घोषणा की। उन्होंने कहा कि महिन्द्रा के बाद इसमें अन्य उद्यमियों को भी शामिल किया जाएगा। होम-स्टे को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन सचिव उत्पल कुमार सिंह व महिन्द्रा हालिडेज एंड रिसार्टेज इंडिया के प्रबंध निदेशक रमेश रामनाथन ने एमओयू पर साइन किए। छोटी हल्द्वानी, झाला, आगोरा, बारसू, तोलमा के 20 गांवों को इस योजना में शामिल किया गया है।

इन होमस्टे को महिन्द्रा के मानकों के आधार पर तैयार करना होगा। इन स्थानों की मार्केटिंग का काम महिन्द्रा कंपनी करेगी। होमस्टे मालिक खुद भी पर्यटकों को किराए पर कमरे दे सकता है। रमेश रामनाथन ने कहा कि फिलहाल उत्तराखंड के लिए 2500 रुपया प्रतिदिन का रेट तय किया गया है, जिसमें भोजन भी शामिल है। जल्द ही दरों को नए सिरे से तय किया जाएगा। योजना में शामिल होने के लिए कई आवेदन पर्यटन विभाग को मिल रहे हैं।

उत्पल कुमार सिंह के मुताबिक इस योजना से स्थानीय लोगों को काफी फायदा होगा। कार्यक्रम में अपर सचिव राजीव भरतरी, महिन्द्रा की बिजनेस हैड विमला डी राजू, जीएमवीएन के एमडी नीरज सेमवाल, संयुक्त निदेशक एके द्विवेदी, एके सिंह आदि उपस्थित थे। इस दौरान महाकुंभ, नंदा देवी स्की रिसोर्ट, ग्रामीण पर्यटन पर आधारित प्रचार सामग्री का विमोचन किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अपने घर का होटल जैसा इस्तेमाल करें