DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हम बच्चों हिन्दुस्तान के चलते सीना तान के

काशी की सड़कों पर गुरुवार को बच्चों ही बच्चों नजर आए। एक-दूसरे का हाथ थामे बच्चों बड़ों को एकता, भाईचारे और सद्भाव का संदेश दे रहे थे। देशी-विदेशी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बने 16 स्थानीय स्कूलों के ये बच्चों रथयात्रा चौराहे से लंका चौराहे तक सड़क के दोनों ओर खड़े होकर बाल गंगा आनंद महोत्सव में दूर-दूर से आए बच्चों का स्वागत कर रहे थे।

महोत्सव में शामिल बच्चों की रैली राजकीय बालिका इंटर कालेज से निकलकर लंका तक गई। बच्चों बसों में सवार थे, जिनके आगे-आगे राष्ट्रीय युवा योजना के संयोजक  व प्रख्यात गांधीवादी डा. एसएन सुब्बाराव चल रहे थे। वह सड़क पर मानव श्रृंखला बनाए बच्चों पर माला फेंककर उनका उत्साहवर्धन कर रहे थे।

मानव श्रृंखला में सीएम एंग्लो बंगाली कालेज, बीटीएस इंटर कालेज, गुरुनानक खालसा इंटर कालेज, चिल्ड्रेन एकेडमी, बंगाली टोला इंटर कालेज, दुर्गाचरण गल्र्स इंटर कालेज, गोपी राधा इंटर कालेज, द्वारिकेशानंद सरस्वती इंटर कालेज, महामना मदन मोहन इंटर कालेज, मालवीय शिक्षा निकेतन इंटर कालेज और राष्ट्रीय इंटर कालेज के बच्चों शामिल थे। बाल महोत्सव में अन्य प्रांतों से आए बच्चों के स्वागत के लिए उत्साहित इन बच्चों ने धूप की भी परवाह नहीं। अलबत्ता, कई स्थानों पर इन बच्चों को आसपास के लोगों ने पानी आदि पिलाया।

बाल गंगा आनंद महोत्सव में आए बच्चों की रैली लंका पहुंचकर अस्सी घाट की ओर पैदल मार्च किया। विभिन्न प्रांतों की वेशभूषा में सजे-धजे बच्चों को देखने लिए लोग काफी देर तक सड़क किनारे खड़े रहे, जिसकी वजह से थोड़ी देर के लिए कई जगह जाम भी लगा। रास्ते में बच्चों खूब नारे भी लगा रहे थे-हम बच्चों हिन्दुस्तान के चलते सीना तान के और देश की दौलत हम बच्चों आदि।

रैली में संयुक्त शिक्षा निदेशक ओपी द्विवेदी, अजय पांडेय और मानव श्रृंखला के संयोजक डा. विश्वनाथ दूबे समेत कई विद्यालयों के प्रधानाचार्य और शिक्षक शामिल थे। सड़क से लेकर घाट तक बच्चों को नियंत्रित करने में एनसीसी कैडटों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

अस्सी घाट पर पहुंचकर रैली सर्वधर्म प्रार्थना सभा में बदल गई। इससे पहले बच्चों ने सीढ़ियों पर बैठकर गंगा जी को नमन किया। बीच-बीच में सुब्बाराव देशभक्ति और भाईचारे के गीत गाकर माहौल में और रोमांच पैदा कर रहे थे। सर्वधर्म प्रार्थना सभा में स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हम बच्चों हिन्दुस्तान के चलते सीना तान के